scriptPatrika Campaign: Government should listen to the dream of medical col | पत्रिका अभियान : साकार हो मेडिकल कॉलेज का सपना सुन लो सरकार! | Patrika News

पत्रिका अभियान : साकार हो मेडिकल कॉलेज का सपना सुन लो सरकार!

- सरहदी जिले में चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए सक्रिय प्रयासों की दरकार
- घोषणा से जगे हैं जिलावासियों के अरमान

जैसलमेर

Updated: April 07, 2022 07:41:18 pm

जैसलमेर। सीमांत जिलावासियों ने शायद सपने में भी नहीं सोचा था कि कभी यहां मेडिकल कॉलेज में भी खुल सकता है। इसके बाद जब बीते वर्षों में बाड़मेर में मेडिकल कॉलेज की स्थापना कर दी गई तब तो रही-सही उम्मीद भी जाती रही लेकिन केंद्र सरकार की प्रत्येक जिले में मेडिकल कॉलेज स्थापना की नीति और उस पर राजस्थान सरकार की तरफ से जैसलमेर को वरीयता दिए जाने से सब सुखद आश्चर्य में डूब गए थे। वर्ष २०१९ में मेडिकल कॉलेज की सौगात जैसलमेर को दिए जाने की घोषणा के बाद अब सभी चाहते हैं कि धरातल पर निर्णय की क्रियान्विती हो। वैसे यह सही भी है। जैसलमेर क्षेत्रफल के दृष्टिकोण से सबसे बड़ा और आबादी के लिहाज से राज्य का सबसे छोटा जिला है लेकिन यहां पर चिकित्सा सुविधाओं में बढ़ोतरी समय की मांग है। जिला देश के सीमांत क्षेत्र में है तथा नजदीकी बड़ा शहर जोधपुर करीब तीन सौ किलोमीटर की दूरी पर है। गंभीर बीमारी अथवा आपातकाल में लोगों को निजी वाहन अथवा एम्बुलेंस से चार-पांच घंटों का सफर तय करना पड़ता है। इतनी देर में कई बार मरीज की जान तक चली जाती है। अगर यहीं पर मेडिकल कॉलेज का आगाज हो जाए तो रेफर की मुसीबत से लगभग छुटकारा मिल जाएगा। यह भी गौरतलब है कि कई गांव जिला मुख्यालय से २००-२५० किलोमीटर तक दूर हैं। उनके लिए तो जोधपुर पहुंचना करीब-करीब जयपुर अथवा अहमदाबाद जाने जितना दूर हो जाता है।
तत्परता दिखानी होगी
केंद्र सरकार ने राजस्थान सरकार की सिफारिश पर जैसलमेर में मेडिकल कॉलेज की स्थापना को हरी झंडी दे दी। उसके बाद अब सारा दारोमदार राज्य सरकार पर है। जिसके मुखिया अशोक गहलोत जैसलमेर के प्रति विशेष लगाव के लिए जाने जाते हैं। गहलोत कई मौकों पर जैसलमेर को अपना दूसरा घर बता चुके हैं। ऐसे में सरकार को विशेष चेष्टा भी दिखानी होगी। मेडिकल कॉलेज का निर्माण करने के लिए राज्य सरकार की ओर से बजट घोषणा भी की गई। फिर भी जैसलमेर उन जिलों में शामिल है, जहां यह कार्य बहुत मंथर गति से चल रहा है। अब इसमें तेजी भी तभी आएगी जब सरकार के मंत्री से लेकर जिले के सबसे आला अधिकारी कलक्टर निजी तौर पर दिलचस्पी दिखाएंगे। लालफीताशाही के मकडज़ाल और आपसी तालमेल को तरसते चिकित्सा महकमे के भरोसे यह काम तेजी से होने की उम्मीद कतई नहीं है।
स्वास्थ्य सेवाओं में आएगी नई जान
मेडिकल कॉलेज जैसा उच्च संस्थान स्थापित हो जाने से जैसलमेर की बीमार चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाओं में नई जान आने की पूरी संभावना है। एक साथ कई विशेषज्ञों की सेवाएं लोगों को मिल सकेंगी जो अब तक सैकड़ों किलोमीटर का सफर तय करने के बाद ही हासिल हो पाती है। जिलावासियों को इस कार्य पर हजारों रुपए खर्च करने पड़ते हैं और गर्मी-सर्दी-बारिश के मौसम की मार भी झेलनी पड़ रही है। कई मामलों में यहां के लोग अंधेरे में तीर चलाने के अंदाज में स्थानीय स्तर पर चिकित्सक से उपचार लेते हैं और मर्ज बढऩे के बाद जोधपुर या अहमदाबाद पहुंचते हैं। उससे उनकी परेशानियों में कई गुना इजाफा हो जाता है। कुछ मामले ऐसे भी सामने आए हैं, जिनमें यहां के चिकित्सकों ने बहुत गंभीर रोग बताकर मरीज को किराए पर वाहन लेकर बाहर जाने के लिए कहा और हजारों रुपए खर्च कर तथा मानसिक पीड़ा भोगने के बाद जोधपुर, अहमदाबाद, बीकानेर आदि के विशेषज्ञ से दिखाने पर पता चलता है कि मामले में ऐसा कुछ गंभीर था ही नहीं। यह सारी समस्याएं एक झटके में मेडिकल कॉलेज की स्थापना और विशेषज्ञों के पदस्थापन से ही दूर हो सकेंगी।
पत्रिका अभियान : साकार हो मेडिकल कॉलेज का सपना सुन लो सरकार!
पत्रिका अभियान : साकार हो मेडिकल कॉलेज का सपना सुन लो सरकार!

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

लालू यादव पर फिर शिकंजा, सीबीआई ने राजद सुप्रीमो से जुड़े 17 ठिकानों पर मारा छापाRoad Rage Case: आज पटियाला में सरेंडर करेंगे नवजोत सिंह सिद्धू, SC ने सुनाई है एक साल की सजाAzam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचेGyanvapi Masjid Row: ज्ञानवापी मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, हिंदू-मुस्लिम पक्ष रखेंगे अपने-अपने तर्कExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंJammu Kashmir: रामबन में जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहा, 7 लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारीभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: नड्डा ने दिया एकजुटता का संदेश, आज पीएम मोदी बताएंगे जीत का फॉर्मूलाWeather Update: गर्मी से जल्द मिलेगी राहत, इन राज्यों में होगी बारिश, IMD का अलर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.