Watch Video: ‘जघन्य अपराधों के लिए समाज में आ रही गिरावट जिम्मेदार’

- पुलिस महानिरीक्षक हवासिंह घुमरिया ने कहा, समाज को भी करनी होगी पहल
- जैसलमेर आने वाले सैलानियों की सुरक्षा पर पूरा ध्यान

By: Deepak Vyas

Published: 03 Dec 2019, 09:04 AM IST

Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

जैसलमेर. प्रदेश में पिछले अर्से के दौरान महिलाओं और नाबालिग बालिकाओं के साथ बलात्कार जैसे जघन्य अपराधों के लिए समाज में आ रही गिरावट मुख्य तौर पर जिम्मेदार है। जैसलमेर दौरे पर आए पुलिस महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) हवासिंह घुमरिया ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता के अवसर पर यह बात कही। घुमरिया ने कहा कि नाबालिगों के साथ जघन्य अपराध के संबंध में पुलिस पूरी तरह से संवेदनशील है और ऐसे अपराध करने वालों को तत्परता से गिरफ्तार कर उन्हें कानूनन सजा दिलाई जा रही है। पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग भी मौजूद थी। उन्होंने कहा कि अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस तो अपनी ड्यूटी कर ही रही है, लेकिन समाज को भी आगे आकर पहल करनी होगी। पुराने जमाने में जब कम सुरक्षा बंदोबस्त होते थे, तब अपराध इसीलिए कम होते थे क्योंकि अपराधी तत्वों को समाज का भय रहता था। वर्तमान में अपराधियों को जाति, पंथ, धर्म के आधार पर कहीं न कहीं समाज का समर्थन मिल जाता है, यह नहीं होना चाहिए।
जैसलमेर की अंतरराष्ट्रीय छवि
महानिरीक्षक ने कहा कि पर्यटन सीजन के दौरान जैसलमेर महज राजस्थान का एक जिला भर नहीं रहता बल्कि इसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान होती है। यहां इस समय घटित होने वाली घटना अंतरराष्ट्रीय पटल पर प्रदर्शित हुआ करती है। इस लिहाज से जिला पुलिस को विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने जैसलमेर सहित पश्चिमी राजस्थान में नशीले पदार्थों की तस्करी की रोकथाम के लिए पुलिस के पूर्णतया प्रयासरत होने की बात कही। घुमरिया ने कहा कि जैसलमेर घूमने आने वाले सैलानियों के लिए पुलिस पूर्णतया सहयोगी है।
बढ़ते सडक़ हादसे बड़ी चुनौती
पुलिस महानिरीक्षक ने जैसलमेर सहित राजस्थान भर में आए दिन घटित होने वाले सडक़ हादसों और उनमें बड़ी संख्या में होने वाली जनहानि की रोकथाम के संबंध में योजनाबद्ध ढंग से काम करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने पुलिस के आधुनिकीकरण पर चर्चा करते हुए बताया कि यह एक सतत रूप से चलने वाली प्रक्रिया है। पिछले १०-१५ वर्षों में पुलिस का चेहरा बदला है। साधन-संसाधन व हथियार भी बढ़े हैं। उन्होंने जैसलमेर जिलावासियों से अपील की कि वे सीमावर्ती क्षेत्र के नागरिक होने के नाते सीमापार से होने वाली किसी भी अवांछनीय गतिविधि के बारे में पूर्णतया सजग रहें और संदिग्ध चीजों के विषय में तुरंत पुलिस को सूचित करें। उन्होंने पाकिस्तानी नम्बर वाले वाट्सएप ग्रुप में जिलावासियों के शामिल होने की जानकारी को चिंताजनक बताया और कहा कि अगर ऐसा हो रहा है तो पुलिस अपने स्तर पर अवश्य कार्रवाई करेगी, लेकिन आमजन को यह समझना होगा कि ऐसे ग्रुप में रहने से वे कानूनी शिकंजे में फंस जाएंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned