फलसूण्ड व भीखोड़ाई में स्थित 33 केवी जीएसएस को हरियासर के 132 केवी जीएसएस से जोडऩे की तैयारी

- ग्रामीणों को मिलेगी राहत

By: Deepak Vyas

Published: 07 Sep 2020, 09:24 AM IST

भीखोड़ाई. फलसूण्ड व भीखोड़ाई गांव में स्थित 33 केवी जीएसएस से जुड़े गांवों व ढाणियों में अब शीघ्र ही विद्युत व्यवस्था बेहतर हो सकेगी। जिसको लेकर डिस्कॉम की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है। गौरतलब हैै कि फलसूण्ड व भीखोड़ाई गांव में 33 केवी जीएसएस स्थित है। यहां बाड़मेर जिले के उण्डू गांव से विद्युत आपूर्ति की जाती है तथा फलसूण्ड व भीखोड़ाई से दर्जनों गांवों व ढाणियों को जोड़ा गया है। उण्डू से फलसूण्ड व भीखोड़ाई तक विद्युत लाइन में कई बार फॉल्ट आ जाने अथवा उण्डू में कोई समस्या होने पर इस क्षेत्र के दर्जनों गांवों में विद्युत आपूर्ति बंद हो जाती है। जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानी होती है। इसी समस्या के समाधान के लिए डिस्कॉम की ओर से प्रयास किए जा रहे है।
हरियासर से जुड़ेंगे दोनों जीएसएस
डिस्कॉम की ओर से बनाई गई कार्य योजना के अनुसार राजमथाई क्षेत्र के हरियासर गांव में स्थित 132 केवी जीएसएस से फलसूण्ड व भीखोड़ाई के 33 केवी जीएसएस को जोड़ा जाएगा। जिससे बाड़मेर जिले की बजाय जैसलमेर जिले के मात्र कुछ किमी की दूरी पर स्थित जीएसएस से विद्युत आपूर्ति हो सकेगी। ऐसे में विद्युत लाइन लम्बी नहीं होने से फॉल्ट की समस्या कम होगी तथा क्षेत्र में पर्याप्त वॉल्टेज के साथ विद्युत आपूर्ति हो सकेगी। जिससे ग्रामीणों को राहत मिलेगी।
धीमी गति से चल रहा है कार्य
डिस्कॉम की ओर से कार्य योजना बनाकर तीन माह पूर्व कार्य शुरू किया गया, लेकिन ठेकेदार की ओर से धीमी गति से किए जा रहे कार्य के कारण हरियासर से भीखोड़ाई तक विद्युत पोल लगाने व लाइनें खींचने का कार्य पूरा नहीं हो पाया है। मंथर गति के कारण कार्य अभी तक पूर्ण नहीं हो पाया है। जिससे ग्रामीणों को परेशानी हो रही है।
पेयजल व्यवस्था भी होगी सुचारु
क्षेत्र की पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था भी बिजली पर ही निर्भर है। ऐसे में कई बार उण्डू से विद्युत आपूर्ति बंद हो जाने पर फलसूण्ड व भीखोड़ाई के राजकीय अस्पतालों के साथ बलाड़, भीखोड़ाई, स्वामीजी की ढाणी, फलसूण्ड, सोहनपुरा सहित अन्य गांवों के बूस्टिंग स्टेशनों से जलापूर्ति व्यवस्था भी बिगड़ जाती है। जिसके कारण ग्रामीणों को खासी परेशानी होती है।
चल रहा है कार्य
हरियासर से भीखोड़ाई जीएसएस तक विद्युत पोल लगाने का कार्य चल रहा है। ठेकेदार को पाबंद कर कार्य में तेजी लाई जाएगी और कार्य को शीघ्र पूर्ण कर विद्युत आपूर्ति शुरू की जाएगी।
रमेश बारूपाल, सहायक अभियंता डिस्कॉम, भणियाणा।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned