JAISALMER NEWS- कैदियों के विवाद ने खोली जेल में मोबाइल होने की पोल

- क्षमता से अधिक कैदी होने से संभालना हुआ मुश्किल

By: jitendra changani

Published: 27 Mar 2018, 12:31 PM IST

उपकारागृह के महिला बेरिक शौचालय में मिला मोबाइल!
- कैदियों में विवाद के बाद ली तलाशी
- मोबाइल पुलिस को सुपुर्द कर करवाया मामला दर्ज
पोकरण (जैसलमेर) . पोकरण के उपकारागृह में रविवार को एक मोबाइल मिलने से जेल प्रशासन में सनसनी फैल गई। मुख्य जेल प्रहरी ने इसको लेकर पुलिस में मामला भी दर्ज करवाया है। गौरतलब है कि रविवार रात्रि में मुख्य जेल प्रहरी ने स्थानीय उपकारागृह का निरीक्षण किया। तलाशी में महिला बैरिक के शौचालय में एक मोबाइल फोन मिला। इस पर मुख्य प्रहरी ने इसे तत्काल जब्त कर पुलिस को सुपुर्द किया।
जेल में कैसे पहुंचा मोबाइल?
स्थानीय उपकारागृह में इन दिनों 18 बंदी हैं। जिनकी समय-समय पर जांच की जाती है तथा जेल का भी निरीक्षण किया जाता है। न्यायालय की ओर से न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के बाद पुलिस बंदियों को उपकारागृह में रखते हैं। इस दौरान उसकी पूरी तलाशी ली जाती है। कारागृह के बाहर दिन-रात जेल प्रहरियों का पहरा रहता है। किसी भी व्यक्ति को मिलने का समय निर्धारित है तथा किसी भी परिजन को मिलने के लिए उपखण्ड अधिकारी से इजाजत लेने के बाद जेल में मुख्य प्रहरी के कक्ष में बनी खिडक़ी से मिलवाया जाता है। इस दौरान बंदी की परिजन से दूरी भी 10 से 20 फीट तक रहती है। परिजन की ओर से लाए गए सामान की भी जांच के बाद ही बंदी को दिया जाता है। ऐसे में यह मोबाइल उपकारागृह में कैसे पहुंचा, यह जांच का विषय है। इसके अलावा कौनसा बंदी मोबाइल का उपयोग कर रहा था, इसकी भी जांच की जा रही है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

झगड़े के बाद ली तलाशी
स्थानीय उपकारागृह में रविवार दोपहर कुछ बंदियों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। तीन बंदी आपस में लड़ाई झगड़े के लिए उतारू होने लगे। जानकारी मिलने पर जेल प्रहरियों ने बीच-बचाव किया तथा इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। इसके बाद दो बंदियों को जोधपुर जेल में शिफ्ट किया गया। बंदियों में हुए विवाद के बाद मुख्य जेल प्रहरी की ओर से बेरिक का निरीक्षण कर सभी बंदियों की तलाशी ली गई, इस दौरान महिला बेरिक शौचालय में मोबाइल मिला। इस संबंध में बंदियों से पूछताछ की, लेकिन किसी ने अपना होने से इनकार कर दिया।
क्षमता से अधिक बंदी
गौरतलब है कि स्थानीय उपकारागृह की क्षमता के अनुसार यहां पुरुष व महिलाओं के लिए अलग-अलग अधिकतम 15 बंदियों को रखने की व्यवस्था है। जबकि यहां 18 कैदी जमा है। हालांकि यहां एक भी महिला कैदी नहीं होने के कारण कुछ पुरुष बंदियों को महिला बेरिक में भी रखा गया है।
करवाया गया है मामला दर्ज
उपकारागृह के महिला बेरिक शौचालय में मिले मोबाइल में सिम कार्ड नहीं था। मोबाईल जब्त कर पुलिस में मामला दर्ज करवाया गया है, जिसकी जांच चल रही है। जो भी दोषी होगा, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
- गैनाराम, मुख्य जेल प्रहरी उपकारागृह, पोकरण

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned