रामसरोवर पर तैनात किए आरएसी के तैराक

रामसरोवर पर तैनात किए आरएसी के तैराक

Deepak Vyas | Publish: Sep, 06 2018 01:19:49 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

-उमड़ रही है श्रद्धालुओं की भीड़

रामदेवरा. रामसरोवर पर सुरक्षा के लिहाज से बुधवार को आरएसी के प्रशिक्षित तैराक तैनात किए गए है। गौरतलब है कि रामसरोवर में प्रतिवर्ष कई लोगों के डूबने की घटनाएं होती है। इसी को लेकर यहां आरएसी के प्रशिक्षित तैराक तैनात किए गए है। प्रभारी मुख्य आरक्षक फतुराम सहित 10 कांस्टेबल साजो सामान के साथ तैनात किए गए है। आरएसी के तैराक तैनात करने के बाद बुधवार को ही ये कारगार साबित हुए। रामसरोवर में नहाते समय राजसमंद खखरोद निवासी रेखाकुमारी (30) डूबनी लगी। जिस पर यहां तैनात आरएसी के तैराकों ने उसे तत्काल बाहर निकाल लिया। जिससे हादसा टल गया।
गांव में चल रहे अंतरप्रांतीय मेले के दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। उधर, बुधवार को माह के कृष्ण पक्ष की दशमी के अवसर पर भी बाबा की समाधि के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। बुधवार को दशमी होने के कारण बड़ी संख्या में श्रद्धालु रामदेवरा पहुंचे। मंगलवार की रात्रि 11 बजे से ही मंदिर के सामने श्रद्धालुओं की कतारें लगनी शुरू हुई, जो मंदिर द्वार खुलने तक करीब एक किमी तक पहुंच गई। बाबा रामदेव के जयकारे लगाते श्रद्धालुओं का जोश एवं उत्साह अपने चरम पर है।

कतार में खड़े रहकर किए दर्शन
रामदेवरा में बुधवार को मंदिर प्रवेश द्वार से नोखा धर्मशाला तक करीब एक से डेढ़ किमी लम्बी कतारें लगी। श्रद्धालुओं ने पांच से छह घंटे तक कतार में खड़े रहकर बाबा की समाधि के दर्शन किए। दर्शनों के बाद श्रद्धालुओं ने रामसरोवर, परचा बावड़ी, झूला पालना आदि का भ्रमण किया तथा बाजार से जमकर खरीदारी की, जिससे पोकरण रोड, फलोदी रोड, रेलवे स्टेशन रोड, मेला चौक एवं उसके आसपास श्रद्धालुओं की व्यापक चहल पहल व रेलमपेल देखने को मिली।

सेवा में जुटी संस्थाएं
बाबा रामदेव के मेले के दौरान संस्थाएं श्रद्धालुओं की सेवा में जुटी हुई है। बाबो भली करे हरिओम अन्नक्षेत्र सोसायटी की ओर से मेला चौक में भण्डारे का संचालन किया जा रहा है। यहां आने वाले श्रद्धालुओं को नि:शुल्क भोजन करवाया जा रहा है। इसके अलावा किसी श्रद्धालु का पर्स खो जाने, जेब कट जाने अथवा रुपए खत्म हो जाने पर उसे पुन: अपने गंतव्य स्थल तक पहुंचने के लिए किराया भी दिया जा रहा है। संस्था की ओर से आगामी एक माह तक भण्डारे का संचालन किया जाएगा। इस दौरान संस्था के तीन दर्जन से अधिक कार्यकर्ता सेवा करेंगे। इसके अलावा भी गांव में कई संस्थाओं की ओर से नि:शुल्क रामरसोड़े लगाकर श्रद्धालुओं की सेवा की जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned