सज गई सूनी कलाइयां तो भावुक हुए सीमाप्रहरी,बहनों ने भाइयों के राखी बांधकर की दीर्घायु होने की कामना

Deepak Vyas

Updated: 15 Aug 2019, 07:31:23 PM (IST)

Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

जैसलमेर. भाई-बहिन के पवित्र प्रेम के प्रतीक पर्व रक्षाबंधन का त्योहार बुधवार को हर्षोल्लास से मनाया गया। स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन के पावन अवसर पर सीमा जन कल्याण समिति की ओर से भारत पाक सीमा पर डटे सीमाप्रहरियों को रक्षा सूत्र बांधे गए । नोख की ओर से पहुंची टीम ने नवरंग वाला,मोहन, आरसी वाला पोस्ट पर तैनात सीमाप्रहरियों 105 को रक्षा सूत्र बांधे गए । नोख से सीमाजन कल्याण समिति के प्रचार प्रमुख महेंद्र सिंह सिसोदिया के साथ ओमप्रकाश माली, कैलाश दान चारण, महेश कुमार छगाणी, तेजू दान योगेंद्र सिंह, दीक्षा छंगाणी आदि मौजूद रहे । जिले भर में बहिनों ने भाइयों के ललाट पर अक्षत तिलक लगाकर उनकी कलाइयों पर राखियां बांधी और उनका मुंह मीठा करवाया। श्रावण शुक्ल पूर्णिमा के दिन स्वर्णनगरी में सुबह से ही खासी चहल-पहल देखने को मिली। दिनभर राखी बांधने का मुहूर्त होने के कारण दिन से लेकर देर शाम तक राखी बांधने का सिलसिला चला। शहर में विशेषकर गोपा चौक, दुर्ग, गड़ीसर रोड, आसनी रोड, सदर बाजार, गांधी चौक, कचहरी रोड आदि मुख्य बाजारों में सजी धजी महिलाओं व युवतियों के समूहों की चहल-पहल बनी रही। मिठाइयों की दुकानों पर भारी भीड़ का नजारा दिखा। बहिनों ने भाई की कलाई पर राखी बांधी और उनके दीर्घायु व मंगलमय जीवन की कामना की। श्रावण शुक्ल पूर्णिमा के दिन शहर में श्रावणी कर्म आयोजित किए गए। ब्राह्मïणों ने अपने यजमानों के रक्षा सूत्र बांधकर रक्षा का वचन लिया। राखी बंधवाने के पश्चात भाइयों ने बहिनों को सामथ्र्यानुसार नगद राशि व उपहार भेंट किए। बाजारों में राखियों, मिठाइयों, ज्वैलर्स व गिफ्ट आर्टिकल्स की दुकानों में अच्छी ग्राहकी का दौर चला। बदलते समय का प्रभाव भी पर्व के दौरान देखने को मिला। पारम्परिक राखियों के साथ इस बार इलेक्ट्रोनिक, फैंसी, खुशबूदार व धातु से निर्मित राखियों का भी प्रचलन देखने को मिला। कई लोगों ने पूर्णिमा के दिन बहन व बेटी के परिवार के सदस्यों को घर में भोजन कराया तो कइयों ने घर की बजाय होटल या रेस्टोरेंट में स्नेहपूर्वक भोजन कराया। ग्रामीण क्षेत्रों में भी रक्षाबंधन पर्व के दौरान उत्साह देखने को मिला।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned