लो हो गई 'मेहनत ' व 'किस्मत' की परीक्षा

-पहली पारी में 83.58 व दूसरी पारी में 84.19 परीक्षार्थियों ने दी परीक्षा
-एक फर्जी परीक्षार्थी को पकड़ा

By: Deepak Vyas

Published: 26 Sep 2021, 08:58 PM IST

जैसलमेर. पाक सीमा से सटे सरहदी जैसलमेर जिले में रीट परीक्षा के दौरान खुशी, मायूसी, उत्साह, उल्लास हर तरह के नजारे देखने को मिले। रविवार को दो पारियों में हुई रीट की परीक्षा का महत्व परीक्षार्थियों के लिए क्या था, इसका अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों के साथ उनके परिजन भी पहुंचे। अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी कमल किशोर व्यास के अनुसार पहली पारी में 5585 परीक्षार्थियों में से 4668 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। इस दौरान 917 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। उपस्थिति प्रतिशत 83.58 प्रतिशत रहा। इसी तरह दूसरी पारी में 5582 परीक्षार्थियों में से 4700 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी और 882 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। उपस्थिति प्रतिशत 84.19 प्रतिशत रहा। परीक्षा शांतिपूर्ण रही। एसबीके कॉलेज परीक्षा केन्द्र पर भाई की जगह परीक्षा देते एक फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया। परीक्षा शांतिपूर्ण व व्यवस्थित तरीके से होने पर जिम्मेदारों ने राहत की सांस ली। परीक्षा से पहले कई परीक्षार्थी नोट्स व महत्वपूर्ण प्रश्नों का दोहराव करते दिखे तो कई परीक्षार्थी अपनी तैयारी से संतुष्ट होने के कारण खुद को एकांत में परीक्षा के लिए मानसिक रूप से तैयार करते दिखे। कई जगह परीक्षा केन्द्रों के बाहर भोजन की व्यवस्था की गई थी। दूरदराज के परीक्षार्थियों के आगमन का दौर शनिवार देर शाम व रात्रि में शुरू हो गया। ज्यादातर रविवार को यहां पहुंचे।
17 परीक्षा केन्द्र स्थापित
जैसलमेर जिले में परीक्षा के लिए जैसलमेर में 17 केंद्र स्थापित किए गए। परीक्षा की बागडोर जिला प्रशासन के हाथ में रही। परीक्षा को लेकर 600 सरकारी शिक्षकों को वीक्षक बनाया है। निजी स्कूलों के शिक्षकों को इस काम से दूर रखा गया। हर कमरे में 24 जने परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई। रीट परीक्षा दो पारियों में सुबह 10 से 1230 और 2:30 से 5 बजे तक आयोजित हुई। रीट परीक्षा के महत्व और इसमें अवांछनीय गतिविधियों की पूरी आशंका को देखते हुए प्रशासन ने बहुत कड़े सुरक्षा प्रबंध किए। यहां 17 केंद्रों के लिए चार पर्यवेक्षक लगाए हैं। कोषागार से केंद्र तक प्रश्रपत्र पहुंचाने और परीक्षा संपन्न होने के बाद पुन: संग्रहित करने का कार्य एक जैसी सुरक्षा के घेरे में की गई। इस दौरान परीक्षार्थियों के लगाए हुए मास्क उतरवा कर उन्हें नए मास्क दिए गए। आभूषण पहनकर परीक्षा देने की अनुमति भी नही दी गई।

लो हो गई 'मेहनत ' व 'किस्मत' की परीक्षा
Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned