scriptRelief from corona, now dengue sting | कोरोना से राहत, अब डेंगू का डंक | Patrika News

कोरोना से राहत, अब डेंगू का डंक

- डेंगू की जकड़ में जैसाण
- पहली बार जैसलमेर में बड़े पैमाने पर फैला डेंगू बुखार
- घर-घर बीमार तो अस्पताल हुए फुल

जैसलमेर

Published: October 16, 2021 08:09:14 pm


जैसलमेर. कोरोना महामारी से राहत मिलने के बाद अब डेंगू बुखार ने सीमावर्ती जैसलमेरवासियों को तपा दिया है। घर-घर में लोग बुखार में तप रहे हैं। हालत यह है कि राजकीय जवाहिर चिकित्सालय से लेकर निजी अस्पतालों में मरीजों को भर्ती करने के लिए जगह कम पड़ रही है। रोजाना तीस से चालीस मरीज डेंगू के चिन्हित हो रहे हैं। बच्चों से लेकर बड़े-बुजुर्गों तक को डेंगू बुखार और वायरल बीमारियों ने अपनी जकड़ में ले रखा है। पिछले एक महीने के दौरान सैकड़ों जिलावासी डेंगू की चपेट में आए हैं और यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। जिले में इतने बड़े पैमाने पर डेंगू का प्रसार पहली बार देखने को मिल रहा है। हालांकि मलेरिया के मामले कम ही सामने आ रहे हैं। वैसे तो सभी उम्र के लोगों को डेंगू अपनी चपेट में ले रहा है लेकिन बच्चों पर खास तौर पर संकट छाया हुआ है। जवाहिर चिकित्सालय सहित शहर के अन्य अस्पतालों में बालरोग विशेषज्ञ को दिखाने के लिए रोजाना सैकड़ों की सं या में बच्चों को लेकर उनके अभिभावक पहुंच रहे हैं। गौरतलब है कि डेंगू बुखार एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। मानसून में हुई अच्छी बारिश के बाद इसका प्रकोप बढ़ता ही चला गया है। जिले के कई मरीजों का उपचार जोधपुर और बाहरी शहरों में भी चल रहा है।
अस्पतालों में नहीं जगह
जिला मु यालय के अस्पतालों में डेंगू के मरीजों का आधिक्य इतना हो गया है कि उन्हें भर्ती रखने के लिए बेड कम पड़ रहे हैं। ऐसे में कई मरीजों को तत्काल आवश्यकता वाला उपचार अस्पताल में देकर उन्हें घर पर रहकर इलाज लेने के लिए भी प्रेरित किया जाता है। जवाहिर चिकित्सालय की ओपीडी से लेकर इनडोर तक में भीड़ का आलम है। वैसे बुखार में तपते व्यक्ति को अगर डेंगू पॉजिटिव आता है तो उसका उपचार करीब आठ-दस दिन चलता है। जानकारों के अनुसार इसमें रक्त में श्वेत कणिकाएं कम होती जाती हैं। यह सिलसिला पहले पांच दिन तक चलता है और मरीज एकदम कमजोरी महसूस करता है। उसके बाद में उपचार से श्वेत कणिकाएं पुन: बढऩा शुरू हो जाती हैं। एक मरीज को पूरी तरह से तंदुरुस्त होने में १५-२० दिन तक का समय लग रहा है। जैसलमेर शहर में तो प्रत्येक गली-मोहल्ला में रोगी पाए जा रहे हैं। जिस घर में एक मरीज आता है, उसके साथ अन्य रिश्तेदार भी चपेट में आ रहे हैं।
सावधानी बरतना जरूरी
- पानी वाले बर्तनों को साप्ताहिक रूप से साफ करें।
- लंबी बाजू की शर्ट, लंबी पैंट, जूते और मोजे पहनकर खुद को ढक कर रखें।
- शिशुओं को डेंगू से बचाने के लिए पालना और मच्छरदानी का प्रयोग करें।
- डेंगू फैलाने वाला मच्छर चूंकि ज्यादा ऊंचा नहीं उड़ पाता इसलिए ये आमतौर पर टखनों और कोहनी पर काटते हैं।
- डेंगू एडीज एजिप्टी मच्छर से होता है। यह मादा मच्छर होती है। जो पानी के बर्तनों और पौधों में अंडे देती है।
- एडीज इजिप्टी एक छोटा, गहरे रंग का मच्छर है जिसमें बंधी हुई टांगें होती हैं। इस वजह से ये मादा मच्छर ज्यादा ऊपर नहीं उड़ पाते हैं।
- मच्छर आमतौर पर लोगों को घर के अंदर काटता है। यही कारण है कि डेंगू से बच्चे भी बड़ी तादाद में प्रभावित हो रहे हैं।
- एडीज इजिप्टी मच्छर गर्मियों में पैदा होते हैं और सर्दियों के मौसम में जीवित नहीं रहते हैं।
कोरोना से राहत, अब डेंगू का डंक
कोरोना से राहत, अब डेंगू का डंक
बड़ी तादाद में आ रहे मरीज
डेंगू से प्रभावित मरीज वर्तमान में बड़ी संख्या में रोजाना जवाहिर चिकित्सालय पहुंच रहे हैं। अभी भी वार्ड में करीब सवा सौ मरीज भर्ती हैं। इस बुखार का पहले इतना प्रकोप नहीं था।
- डॉ. रोहिताश गुर्जर, फिजिशियन, जवाहिर चिकित्सालय जैसलमेर
सर्दी में थमेगा प्रकोप
डेंगू बुखार इन दिनों व्यापक तौर पर फैला हुआ है और बड़ी सं या में मरीज पाए जा रहे हैं। इससे राहत आगामी नव बर माह में सर्दी का मौसम शुरू होने पर मिलने की उ मीद है। फिलहाल तो सभी लोगों को जरूरी सावधानियां बरतनी चाहिए।
- डॉ. संजय व्यास, फिजिशियन, निजी चिकित्सालय, जैसलमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.