सुरक्षा के नाम पर 'दबंगई' -शहर की गलियों में मनमाने ढंग से रोक दिए गए रास्ते

-आवश्यक कार्य जाने वालों की बढ़ रही परेशानियां
-लॉक डाउन की आड़ में चल रहा मनमानी का दौर

By: Deepak Vyas

Published: 09 Apr 2020, 08:50 PM IST

जैसलमेर. जैसलमेर में कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच चल रहे लॉकडाउन के तहत मुख्य सड़कों व चौराहों पर आवागमन नहीं के बराबर हो गया है। ऐसे में गत दो दिनों के दौरान शहर के भीतरी भागों में 'सुरक्षाÓ के नाम पर गलियों में जगह-जगह पत्थर आदि डाल कर तथा दुपहिया वाहन खड़े कर रास्ते रोक दिए जाने से आमजन को अत्यावश्यक कार्य से निकलने में भी भारी मुश्किलें पेश आना शुरू हो गई हैं। यहां तक की सोनार
हकीकत यह है कि पोकरण में कोरोना संक्रमितों के सामने आने के बाद वहां कफ्र्यू लगाए जाने के कारण बड़ी संख्या में जैसलमेर से पुलिस बल तैनात किया गया है। इस वजह से जिला मुख्यालय पर नफरी कम होने और भीतरी वार्डों में बेवजह दुपहिया वाहनों पर घूमने वालों पर रोक लगाने के लिए पुलिस ने तीन दिन पहले कुछ मुख्य रास्तों को अवरुद्ध करवाया गया था। इसकी आड़ में अब कुछ लोगों ने दबंगई दिखाते हुए हर गली-नुक्कड़ को ही मनमाने ढंग से बंद कर दिया है। इस वजह से किसी बड़े-बुजुर्ग, बच्चे व महिला आदि को अस्पताल ले जाने से लेकर गैस सिलेंडर, पानी का कैम्पर, घरेलू आवश्यकता का सामान आदि लाने में दिक्कतें पेश आ रही हैं। इस तरह से पुलिस की ओर से अच्छे नजरिये से की गई पहल का कई लोगों ने दुरुपयोग करना शुरू कर दिया है।
लडऩे पर हो जाते हैं उतारू
जैसलमेर के ऐतिहासिक सोनार दुर्ग सहित शहर की गलियों में कहीं मोटरसाइकिल तो कहीं बड़े-बड़े पत्थर व टिन-टप्पर डाल कर रास्ते रोक दिए गए हैं। इस कारण आस-पड़ोस में रहने वाले लोगों को बेजा असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। अगर कोई व्यक्ति अवरोध हटाने की बात कहता है तो दबंग किस्म के लोग लडऩे पर उतारू हो जाते हैं। उनका कहना है कि, ऐसा वे लॉकडाउन की पालना करवाने के लिए कर रहे हैं जबकि शहर में प्रशासन की तरफ से बेवजह घूमने वालों पर पाबंदी लगाई गई है। जरूरत का सामान लाने अथवा चिकित्सा संबंधी आपातकालीन परिस्थितियों में लोगों के आवाजाही करने पर किसी तरह की रोक नहीं है।

राउंड लेकर देखता हूं, कौन कर रहा है..
गली-मोहल्ले व आम रास्तों को रोकने की शिकायतें आ रही है। हमने गश्त लेकर हटवाएं हैं। आवश्यक सामग्री लाने से किसी को रोका नहीं जाना चाहिए। मैं राउंड लेकर पता लगाता हूं, उसके बाद कार्रवाई करेंगे।
-किशनसिंह, शहर कोतवाल, जैसलमेर

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned