JAISALMER NEWS- जैसलमेर के देवी मंदिरों में हुए ऐसे धार्मिक कार्यक्रम, जिसे देखकर हर कोई हुआ...

देवी मंदिरों में उमड़ी भीड़- मंदिरों में हुआ यज्ञ

By: jitendra changani

Published: 25 Mar 2018, 11:00 PM IST

पोकरण . कस्बे में चैत्र नवरात्र पर रविवार को दुर्गाष्टमी व रामनवमी पर स्थानीय देवी मंदिरों में यज्ञ हुआ। इस अवसर पर मंदिरों को आकर्षक रोशनी व पुष्पों से सजाया गया। मंदिरों में दर्शनार्थियों की भीड़ देखी गई। कस्बे के प्रसिद्ध आशापूर्णा देवी के मंदिर में यजमान कमलकिशोर बिस्सा ने पुजारी नखतपुरी के सान्निध्य में पूजा-अर्चना की तथा दोपहर आचार्य पंडित राधाकिशन व्यास के सान्निध्य में हवन किया गया। भक्तजनों ने यज्ञ में आहुतियां देकर सुख, समृद्धि, अमन-चैन व खुशहाली के लिए कामनाएं की। इसी तरह कस्बे में गांधियों की कुल देवी धरज्वल माता के मंदिर में पुजारी पंडित वासूदेव दवे के सान्निध्य में यजमान स्वरूपचंद झाबरा ने पूजा-अर्चना की तथा दोपहर बाद आचार्य पंडित शिवकिशन व्यास ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यज्ञ करवाया। छंगाणियों की कुलदेवी संच्चियाय माता मंदिर में आचार्य पंडित अश्विनी छंगाणी व पुजारी स्वरूपपुरी, करणी माता मंदिर में आचार्य गिरीराज पुरोहित, राजेश पुरोहित व पुजारी टीकमचंद शर्मा, व्यासों की बगेची स्थित जाज्वला मैया मंदिर में रामनवमी पर हवन, आरती व प्रसादी का आयोजन हुआ। पुष्करणा व्यासों की कुलदेवी जाज्वला मैया के मंदिर में यजमान किरिट व्यास ने पूजा तथा आचार्य कमलकिशोर व्यास व पुजारी नरपतगिरी के सान्निध्य में हवन हुआ। हिंगलाज माता मंदिर, पोकरण फोर्ट में नागाणाराय मंदिर, कैलाश टैकरी स्थित चामुण्डा माता मंदिर, बागवानों का बास स्थित चामुण्डा व खींवज माता मंदिर, रामनाथ महाराज आश्रम स्थित लटियाल माता मंदिर सहित देवी मंदिरों में यज्ञ का आयोजन हुआ।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

दिनभर मंदिरों में लगा श्रद्धालुओं का तांता
दुर्गाष्टमी व रामनवमी पर रविवार को पौ फटने से पहले ही सभी देवी मंदिरों में ढोल नगाड़े व जय माता दी के नारे गूंजने लगे। अलसुबह ही दर्शनार्थियों का तांता लग गया। दिनभर दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रही। शाम को आशापूर्णा, खींवज, संच्चियाय आदि देवी मंदिरों में आरती के दौरान भीड़ उमड़ी। इससे यहां मेले जैसा माहौल हो गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी हुआ हवन
क्षेत्र के भादरिया गांव स्थित शक्तिपीठ श्री भादरियाराय मंदिर में पूजा-अर्चना व हवन किया गया। यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। माड़वा गांव स्थित चंदू मैया व देवल मां मंदिर में भी हवन किया गया। बारठ का गांव में डूंगरेच्चियां मंदिर, भणियाणा भीम तालाब पर स्थित जगदम्बा मंदिर में मंत्रोच्चार के साथ श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

रामदेवरा. नवरात्र में अष्टमी के दिन गांव के आसपास के देवीय मंदिरों में यज्ञ हुआ। स्थानीय रुणीचा कुआं स्थित चिल्लाय माता मंदिर में दिनभर श्रद्धालुओं का दर्शनों के लिए तांता लगा रहा। (नि.सं.)
फलसूण्ड. गांव में स्थित सैणी माता के मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। यज्ञ में यजमानों ने आहुतियां दी। इस अवसर पर मंदिर को फूल मालाओं व आकर्षक रोशनी से सजाया गया। श्रद्धालुओं ने अखण्ड ज्योत के दर्शन किए। इससे पूर्व शनिवार को सैणी माता मंदिर व चामुण्डा माता मंदिर में जागरण हुआ। इसमें क्षेत्र के प्रसिद्ध भजन गायकों ने प्रस्तुतियां दी। इस पर श्रोता भाव विभोर होकर नाचने लगे।

नोख. गांव के आईमाता मंदिर में यज्ञ किया गया। जिसमें यजमानों ने अपनी ओर से आहुतियां दी। दिनभर मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इसी प्रकार कालेडूंगरराय मंदिर में भी धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन किया गया।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika
Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned