JAISALMER NEWS- सरपंच के बेटे वकील ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिख की आत्महत्या

-सरपंच के बेटे की आत्महत्या से सनसनी

By: jitendra changani

Published: 21 Apr 2018, 10:38 PM IST

सोशल मीडिया पर लिखी पोस्ट और लगा लिया फंदा
पोकरण (जैसलमेर). खेतोलाई सरपंच के पुत्र एडवोकेट रामप्रताप विश्रोई ने शनिवार को फांसी का फंदा लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। आत्महत्या के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन घटना के बाद पोकरण सहित आसपास क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। गौरतलब है कि एडवोकेट विश्रोई की जोधपुर रोड पर कुछ दुकानें स्थित है। जिसके ऊपर प्रथम मंजिल पर कमरें बने हुए हैं। पोकरण होने पर वे इन्हीं कमरों में विश्राम करते है। शनिवार को सुबह उन्होंने इसी कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर थानाधिकारी माणकराम विश्रोई मय जाब्ता मौके पर पहुंचे तथा यहां बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस ने विश्रोई के पिता व परिवारजनों की उपस्थिति में शव को नीचे उतरवाया तथा अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

सोशल मीडिया पर आखिरी पोस्ट
एडवोकेट विश्रोई ने शनिवार को सुबह सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली। उनकी ओर से फेसबुक पर ‘कभी-कभी जब मैं कहता हूं मैं ठीक हूं, मैं चाहता हूं कि कोई मुझे आंखों में देखे, मुझे कसकर गले लगाए और कहे मुझे पता है कि आप नहीं है.....।’ इस पोस्ट के कुछ देर बाद उन्होंने फंदा लगाकर दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके निधन के समाचार के बाद लोगों की भीड़ लग गई तथा नम आंखों से विदाई दी।
पोस्टमार्टम के बाद शव किया सुपुर्द
पुलिस के अनुसार खेतोलाई सरपंच नाथूराम विश्रोई ने एक रिपोर्ट पेश कर बताया कि वह शनिवार को सुबह कस्बे में चौराहे पर स्थित एक दुकान पर बैठा था। इस दौरान उसने अपनी गाड़ी के चालक को किसी कार्य से कमरे पर भेजा। जब चालक खेतोलाई निवासी महेन्द्रकुमार मेघवाल कमरे पर पहुंचा, तो दरवाजा खुला था तथा अंदर जाने पर देखा कि रामप्रताप विश्रोई पंखे के हुक से फंदे पर झूला हुआ है। पुलिस ने मर्ग दर्ज कर जांच शुरू की तथा स्थानीय राजकीय अस्पताल में चिकित्सा टीम से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द किया।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned