जर्जर मकानों ने उड़ाई पड़ोसियों की नींद, नगरपरिषद ने सर्वे किया, नोटिस जारी किए

-मूसलाधार बारिश के दौर के बाद बढ़ी दहशत

By: Deepak Vyas

Published: 02 Sep 2020, 09:41 PM IST

जैसलमेर. जिला मुख्यालय पर सोमवार को हुई मूसलाधार बारिश ने जर्जर और क्षतिग्रस्त मकानों के आसपास रहने वालों की नींद व सुकून छीन लिया है। भारी बारिश की वजह से कई मकानों की दीवारें व छतें धराशायी हुई हैं। गनीमत रही कि किसी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई। अब नगरपरिषद प्रशासन सक्रिय हुआ है तथा परिषद कार्मिकों ने सोनार दुर्ग पर 13 तथा जेठा पाड़ा व कोठारी पाड़ा में एक-एक जर्जर मकानों के मालिकों को नोटिस जारी कर उन्हें दस दिन में मकानों को सुरक्षित उतरवाने के निर्देश जारी किए हैं। हालांकि शहर में इनके अलावा और भी कई बंद और कुछ आबाद मकान भी खतरनाक अवस्था में हैं।
हादसा होते-होते बचा
जैसलमेर में गत सोमवार को तेज बारिश के दौरान और उसके रुकने के बाद जेठा पाड़ा तथा कोठारी पाड़ा के एक-एक मकान की दीवार के ढेर सारे पत्थर आम रास्ते पर भरभराकर गिर गए। गनीमत यही रही कि कोई व्यक्ति उनकी चपेट में नहीं आया। इसी तरह से सोनार दुर्ग में कुछ पुराने मकानों की छतों के पत्थर भीतर गिर गए। लोगों ने इस संबंध में तत्काल नगरपरिषद प्रशासन को सूचना दी। आयुक्त फतेहसिंह मीणा और अन्य अधिकारी व कार्मिकों ने मौकास्थलों का जायजा लिया है। मंगलवार को दिनभर परिषद के कार्मिक नोटिस जारी करने तथा उन्हें मकानों पर चस्पा करने की कार्रवाई में जुटे रहे। हालांकि लोगों ने तेज बारिश के बाद नगरपरिषद के हरकत में आने पर रोष भी जाहिर किया है। फिलहाल परिषद की ओर से जर्जर मकानों के आसपास मार्ग को बेरिकेड्स लगाकर बंद किया गया है।
दस दिन का समय
परिषद के आयुक्त फतेहसिंह ने बताया कि अभी तक कुल 15 जर्जर व खतरनाक दशा में पहुंचे मकानों के संबंधित मालिकों को नोटिस जारी किए गए हैं। जैसे-जैसे अन्य जगहों से जर्जर मकानों की सूचना मिलेगी, इस तरह की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि धारा 243 के तहत जारी किए नोटिस में संबंधित लोगों से कहा गया है कि वे आगामी 10 दिनों में अपने मकानों को सुरक्षित ढंग से उतरवा लें अथवा उनकी मरम्मत करवा दें। जिससे किसी तरह के जान-माल का खतरा नहीं हो। ऐसा नहीं किए जाने पर इसके बाद नगरपरिषद की ओर से मकानों को सुरक्षित ढंग से उतरवाया जाएगा और उसका हर्जा-खर्चा वसूल करने के साथ उनके विरुद्ध पुलिस में एफआईआर भी दर्ज करवाई जाएगी।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned