JAISALMER NEWS- गर्भवती महिलाओं तक पहुंचे छ: हजार, बाल विवाह रोकने को हो ऐसे प्रयास

By: jitendra changani

Updated: 08 Apr 2018, 07:28 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/2

पोकरण के राजकीय अस्पताल में आयोजित बैठक में उपस्थित अधिकारी।

पोकरण (जैसलमेर). क्षेत्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की बैठक शनिवार को स्थानीय राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के सभागार में आयोजित की गई। महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक ओमप्रकाश चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में परियोजना अधिकारी भैराराम गेंवा ने क्षेत्र में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्थिति के बारे में जानकारी देते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को रिकॉर्ड संधारण करने, समय पर आंगनबाड़ी केन्द्र खोलने, पोषाहार का वितरण करने, विभाग की योजनाओं का प्रचार प्रसार कर आमजन को लाभ दिलाने के निर्देश दिए। उपनिदेशक चौधरी ने बताया कि सरकार की ओर से वर्ष 2017 में मातृ वंदना योजना शुरू की गई है। जिसके अंतर्गत महिला के गर्भवती होने से प्रसव होने तक छह हजार रुपए दिए जाते है। उन्होंने इस योजना के अंतर्गत आंगनबाड़ी क्षेत्रों में महिलाओं को चिन्हित कर उनके आवेदन प्राप्त करने तथा जमा करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस योजना में कोई भी महिला वंचित नहीं रहे, इसके विशेष ध्यान रखे। इसी प्रकार उन्होंने बताया कि आगामी 18 अप्रेल को अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जाएगा। इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में बाल विवाह होते है। उन्होंने कहा कि बाल विवाह कानूनन अपराध है। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को क्षेत्र में प्रचार प्रसार कर बाल विवाह नहीं करने के लिए जनजागरण करने, क्षेत्र में कहीं पर भी बाल विवाह होने पर उसकी सूचना तत्काल पुलिस व प्रशासन को देने के निर्देश दिए। महिला पर्यवेक्षक विमला दवेरा, स्नेहलता शर्मा ने मासिक उपस्थिति, रिकॉर्ड की जांच की।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned