scriptSo far only three women collectors out of 64 district collectors, two | अब तक 64 जिला कलक्टरों में केवल तीन महिला कलक्टर, दो नहीं कर पाई आधा वर्ष भी कार्यकाल | Patrika News

अब तक 64 जिला कलक्टरों में केवल तीन महिला कलक्टर, दो नहीं कर पाई आधा वर्ष भी कार्यकाल

- टीना डाबी होगी चौथी महिला कलक्टर, अनुपमा जोरवाल को ढाई तो डॉ. प्रतिभासिंह को मिले केवल साढ़े चार माह
-सरहद से सटे जैसलमेर में जिला कलेक्टर को मिलता है औसत एक वर्ष कार्यकाल

 

जैसलमेर

Published: July 06, 2022 05:54:18 pm

दीपक व्यास

जैसलमेर. पाक सीमा से सटे और करीब 38 हजार वर्ग फुट क्षेत्रफल में फैले देश के सबसे बड़े जिलों की फेहरिस्त में शामिल जैसलमेर जिले में टीना डाबी 65 वीं जिला कलक्टर होगी, लेकिन वह केवल चौथी महिला कलक्टर ही होगी। अब तक शुचि त्यागी, अनुपमा जोरवाल और डॉ. प्रतिभासिंह महिला कलक्टर के तौर पर जिला कलक्टर के दायित्व का निर्वहन कर चुकी है। गौरतलब यह है कि तीन महिला कलक्टरों में से दो तो छह माह कार्यकाल ही पूरा नहीं कर पाई। केवल शुचि त्यागी ने ही एक वर्ष कार्यकाल पूरा किया। गौरतलब है कि राज्य सरकारों ने विगत वर्षों में सरहद से सटे जिले में महिलाओं की प्रशासनिक क्षमता पर भरोसा जताया है और उन्हें अवसर भी दिया है, लेकिन कार्यकाल के लिहाज से समय बहुत कम दिया है। गत 17 जनवरी 2022 को आशीष मोदी के भीलवाड़ा कलेक्टर के पद पर तबादला होने के बाद जिले के 64वें कलेक्टर के तौर पर डॉ. प्रतिभासिंह ने पदभार संभाला था, लेकिन वे साढ़े चार माह ही कार्यकाल पूरा कर पाई। हकीकत यह है कि चाहे पुरुष कलक्टर हो या महिला विशाल भू-भाग और छितराई ढाणियों वाले क्षेत्रफल के साथ विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाला रेगिस्तानी जिला प्रशासनिक क्षमता विकसित करने के लिए आदर्श माना जाता है। ऐसे में समूचे क्षेत्र को समझने के लिए ही तीन से चार माह लग जाते हैं, लेकिन महिलाओं को कार्य के लिहाज से संख्यात्मक हो या अवधि के रूप में, अवसर कम ही मिल पाता है।
अनुपमा का जिले में दूसरा सबसे कम कार्यकाल
जैसलमेर की दूसरी महिला कलक्टर अनुपमा जोरवाल कार्यकाल के लिहाज से दूसरी सबसे कम समय तक कलक्टर पद पर रहने वाली अधिकारी रही। उनका कार्यकाल केवल ढाई माह का ही रहा।उनसे पहले एचसी पांडे हैं, जिनका कार्यकाल जैसलमेर में महज 20 दिनों तक रहा। जिले में कलक्टर पद पर सर्वाधिक सवा तीन साल तक डॉ. ललित के. पंवार रहे।


2018 में टूटा था सिलसिला
जिला कलक्टर के लिए जैसलमेर में औसत कार्यकाल एक वर्ष माना जाता है, लेकिन फटाफट कलक्टर बदलने का सिलसिला वर्ष 2018 के बाद एकबारगी थमा था। वर्ष 2012 के बैच के जिला कलक्टर नमित मेहता ने 18 महीनों से ज्यादा समय तक कलक्टरी की। उनसे पहले विश्वमोहन शर्मा, मातादीन शर्मा व कैलाशचंद मीना सभी अधिकाधिक एक वर्ष तक यहां टिके। ओमप्रकाश कसेरा और अनुपमा जोरवाल तो चंद महीनों तक ही इस सीमांत जिले के कलक्टर रह पाए।
इनका भी रहा कम कार्यकाल
जिला कलक्टर के तौर पर सत्यनारायण गुप्ता, एचसी देराश्री और अम्बरीश कुमार को 4-4 माह, केशव पुरी को 5 और बन्नेसिंह को 6 माह जैसलमेर में कलक्टर रहने का अवसर मिला। कार्य के लिहाज से इनका कार्यकाल भी काफी कम माना जाता है। जैसलमेर में डॉ. ललित के पंवार का कार्यकाल सर्वाधिक तीन साल रहा।


इनका रहा सर्वाधिक कार्यकाल

जिला कलक्टर अवधि
अब तक 64 जिला कलक्टरों में केवल तीन महिला कलक्टर, दो नहीं कर पाई आधा वर्ष भी कार्यकाल
अब तक 64 जिला कलक्टरों में केवल तीन महिला कलक्टर, दो नहीं कर पाई आधा वर्ष भी कार्यकाल
डॉ. एलके पंवार 3 वर्ष
सज्जननाथ मोदी 25 माह
पीएल अग्रवाल 23 महीने
एनएल मीना 23 महीने
पुरुषोत्तम अग्रवाल 21 माह
सुधांश पंत 21 माह
महेंद्र कुमार व्यास 20 माह
ललित कोठारी 20 माह
अशोक जैन 20 माह
एमके खन्ना 19 माह

रोचक तथ्य: हकीकत यह भी
-जिला कलक्टर रहे मांगीलाल महेचा और कंवर बहादुर के कार्यभार ग्रहण और कार्यमुक्ति की तिथि का रिकॉर्ड जैसलमेर कलक्ट्रेट में उपलब्ध नहीं है।
-1 मार्च 1953 से 31 मई 1954 तक की अवधि में जैसलमेर को उपखंड बना दिया गया।
-संपत्तमल भंडारी ने 1 जून 1954 से 4 जनवरी 1955 तक कार्यभार संभाला।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरभाजपा विधायक केपी त्रिपाठी के समर्थकों की गुंडागर्दी, सीईओ को पीटकर कचरे के ढेर में फेंकाDelhi: भारत को अमीर देश बनाने के लिए हर भारतवासी को अमीर बनाना पड़ेगा - अरविंद केजरीवालमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें Listजिम्बाब्वे दौरे के लिए केएल राहुल को कप्तान बनाए जाने पर पहली बार शिखर धवन ने दी अपनी प्रतिक्रियाVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकाला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.