छात्रसंघ चुनाव 2018 जोश-खरोश के साथ भरे परचे, नाम वापसी आज

छात्रसंघ चुनाव 2018  जोश-खरोश के साथ भरे परचे, नाम वापसी आज

Deepak Vyas | Publish: Sep, 06 2018 01:02:28 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

-महिला कॉलेज में एबीवीपी के पैनल का निर्विरोध निर्वाचन तय

जैसलमेर. जिला मुख्यालय स्थित एसबीके राजकीय महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के लिए बुधवार को प्रत्याषियों ने जोष के साथ नामांकन पत्र दाखिल किए। इस मौके पर उनके साथ समर्थक भी महाविद्यालय पहुंचे। दूसरी ओर मिश्रीलाल सांवल राजकीय महिला महाविद्यालय में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के पैनल का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया है। सांवल महाविद्यालय के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रो.अशोक आर्य ने बताया कि अध्यक्ष पद के लिए यशा पुरोहित, उपाध्यक्ष के लिए हर्षिता पुरोहित, महासचिव के लिए संतोष सुथार, और संयुक्त सचिव पद पर ज्योति भाटी ने नामांकन दाखिल किए। एक अन्य छात्र संगठन एनएसयूआई महिला महाविद्यालय में पैनल भी नहीं उतार पाया।
चार पदों के लिए 21 नामांकन
उधर, एसबीके राजकीय महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के मौके पर खासी गहमागहमी देखी गई। अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महासचिव पदों के लिए 5-5 तथा संयुक्त सचिव पद के लिए 6 नामांकन पत्र दाखिल किए गए। कक्षा प्रतिनिधियों के लिए कोई भी नामांकन प्राप्त नहीं हुआ। वैध नामांकन सूची का प्रकाषन गुरुवार को सुबह 10 बजे किया जाएगा। सुबह 11 से 2 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। प्राचार्य डॉ. जेके पुरोहित ने विद्यार्थियों से कहा कि जिन्होंने महाविद्यालय से अपने परिचय पत्र प्राप्त नहीं किए हैं वे तुरंत प्राप्त कर लें। परिचय पत्र 8 सितम्बर तक दिए जाएंगे।परिचय पत्र के अभाव में विद्यार्थी मतदान नहीं कर सकेंगे।
आज साफ होगी तस्वीर
एसबीके कॉलेज में नामांकन पत्र वापसी के बाद छात्रसंघ चुनाव की तस्वीर साफ हो सकेगी। वैसे, एबीवीपी की तरफसे अध्यक्ष पद के लिए महेन्द्रसिंह को उम्मीदवार बनाया जाना लगभग निष्चित है। उधर, एनएसयूआई इस पद के लिए पोकरराम को उम्मीदवार बना सकती है।
यहां मुखर हुए विरोध के स्वर
एनएसयूआई की ओर से दिलीपसिंह की सशक्त दावेदारी थी, लेकिन दिलीपसिंह का प्रवेष निरस्त हो जाने से उनकी दावेदारी स्वत:समाप्त हो गई। दिलीपसिंह और उनके समर्थकों ने बुधवार को महाविद्यालय के बाहर प्रवेश निरस्त करने को लेकर विरोध भी जतया। जानकारी के मुताबिक दिलीपसिंह के स्नातक में 44 प्रतिशत अंक है, लेकिन उनका प्रवेश ऑनलाइन मंजूर हो गया। अब महाविद्यालय स्तर पर जांच में मामले का खुलासा होने के बाद प्रवेश निरस्त करने की कार्यवाही की गई है।
पुलिस का रहा कड़ा बंदोबस्त
एसबीके कॉलेज में गत साल नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान हंगामे को देखते हुए इस बार पुलिस का कड़ा बंदोबस्त किया गया। पुलिस सीओ रतनलाल षर्मा और षहर कोतवाल देरावरसिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिस बल महाविद्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार के बाहर और महाविद्यालय में तैनात किया गया था। प्रत्याशियों व उनके प्रस्तावकों तथा परिचय पत्र लेने के लिए आने वाले विद्यार्थियों के अलावा अन्य छात्रों को भीतर नहीं जाने दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned