उपखण्ड अधिकारी ने किया कोरोना माइक्रो कन्टेनमेंट जोन के गांव का निरीक्षण

-प्रोटोकॉल की पालना करने के लोगों को दिए निर्देश

By: Deepak Vyas

Published: 04 May 2021, 09:57 PM IST

जैसलमेर. कोरोना महामारी के तेजी से फैल रहे संक्रमण को रोकने के लिए उपखण्ड प्रशासन जैसलमेर ने ग्रामीण क्षेत्रों में जहां अत्यधिक व्यक्ति कोरोना संक्रमित आ रहे हैं, वहां सम्पूर्ण गांव को कन्टेटमेंट जोन घोषित किया जाकर उनमें प्रतिबंध लगाए गये हैं। उपखण्ड अधिकारी रमेश सिरवी एवं विकास अधिकारी पंचायत समिति जैसलमेर ने सोमवार को कंटेटमेंट जोन घोषित ग्राम रामगढ़, खींया, मोकला, देवा आदि का भ्रमण कर कंटेटमेंट जोन में की जा रही पालना का अवलोकन किया। उन्होंने वहां की गई व्यवस्थाओं का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कंटेटमेंट जोन में लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जो प्रतिबंध लगाए हैं, उसकी सख्ती से पालना करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही यह भी हिदायत दी कि वे सरकार द्वारा कोरोना के सम्बन्ध में जो नवीन गाईड लाईन जारी की हैए उसकी भी पालना करें ताकि वे स्वयं एवं अपने परिवार को कोरोना से बचा सके।

अधिकारी जिम्मेदारी से करें दायित्वों का निर्वहन
जैसलमेर. जिला कलक्टर आशीष मोदी ने कलक्ट्री सभाकक्ष में कोविड जिला टास्क फोर्स की बैठक ली और सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना मरीजों को बेहतर उपचार मिले उसी ध्येय के साथ कार्य करें। उन्होंने विशेष रूप से ऑक्सीजन की व्यवस्था प्रभावी मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए एवं उपयुक्त ऑक्सीजन उपयोग में होए इस बात का विशेष ध्यान रखे ताकि हम अधिक से अधिक मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध करा सके। जिला कलक्टर ने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी के साथ ही चिकित्सालय में प्रबन्धन व्यवस्था के लिए लगाए गए जिला रसद अधिकारी को निर्देश दिए कि वे कोविड डेडीकेटेड वार्ड में भर्ती मरीजों की प्रभावी मॉनिटरिंग करेगें एवं उनके उपचार में किसी भी प्रकार की कमी नहीं रहे इस बात का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने व्यवस्थाओं से सम्बन्धित लगाये गये सभी प्रभारी एवं सह प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पारीवार इन डेडीकेटेड वार्डों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मरीजों से मिले एवं उनकों कितनी ऑक्सीजन दी जा रही हैं एवं कितनी ऑक्सीजन की जरूरत हैंए उसकी रिपोर्ट लें एवं यह सुनिश्चित करें कि बिना जरूरत के ऑक्सीजन का दुरूपयोग नहीं हो। उन्होंने जिला अस्पताल में संचालित वार रूम कम हेल्प लाईन का प्रभावी ढंग से संचालन करने के निर्देश दिए एवं उस वार रूम में जो भी शिकायतें या सूचना लोगों द्वारा दी जा रही हैं, उसका सही ढंग से संधारण करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को इस आपात स्थिति में मरीज का ऑक्सीजन लेवलए उनका स्कॉर लेवल आदि की जानकारी भी रखे ताकि वे क्रिटिकल की स्थिति पर मरीज को समय पर ऑक्सीजन उपलब्ध करा सकें।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned