कोरोना के दौरान लॉक डाउन का असर जारी, बंद पड़े है बाजार, घरों में दुबके लोग

दुनियाभर में आतंक मचा चुके कोरोना वायरस के बाद देशभर में किए गए लॉकडाउन का असर पोकरण में भी देखने को मिल रहा है। गत 22 मार्च से सभी दुकानें बंद पड़ी है और बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। आवश्यक सामान की दुकानों के अलावा सभी दुकानों पर ताले लटके नजर आ रहे है। गौरतलब है कि भारत में भी कोरोना वायरस का असर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है।

By: Deepak Vyas

Published: 27 Mar 2020, 08:14 PM IST

पोकरण. दुनियाभर में आतंक मचा चुके कोरोना वायरस के बाद देशभर में किए गए लॉकडाउन का असर पोकरण में भी देखने को मिल रहा है। गत 22 मार्च से सभी दुकानें बंद पड़ी है और बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। आवश्यक सामान की दुकानों के अलावा सभी दुकानों पर ताले लटके नजर आ रहे है। गौरतलब है कि भारत में भी कोरोना वायरस का असर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। प्रतिदिन नए मरीजों के सामने आने के बाद सरकार, प्रशासन व चिकित्सा विभाग पूरी तरह से सक्रीय है। लॉक डाउन के दौरान प्रशासन व पुलिस सख्त होकर लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने के लिए पाबंद कर रही है। लोग भी बिना काम घरों से नहीं निकल रहे है। जिससे बाजारों की रोनक भी खत्म हो चुकी है।
प्रशासन व पुलिस कर रही है समझाइश
उपखंड अधिकारी अजय अमरावत, पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम गोदारा, नगरपालिका अध्यक्ष आनंदीलाल गुचिया, थानाधिकारी सुरेन्द्रकुमार प्रजापति, नगरपालिका के सहायक राजस्व निरीक्षक रामस्वरूप गुचिया की ओर से कस्बे के विभिन्न गली मोहल्लों में घूमकर लोगों को मास्क लगाने, बिना वजह घरों से नहीं निकलने, भीड़ भाड़ नहीं करने, धारा 144 का पालन करने, साबुन व सैनेटाइजर से हाथ धोने के लिए आह्वान किया जा रहा है। इसके अलावा कानून एवं शांति व्यवस्था भी बनाए रखी जा रही है। पुलिस की ओर से बिना वजह घरों से निकलने वाले लोगों से समझाइश कर रही है तथा नहीं मानने पर उनके चालान काटने की कार्रवाई की जा रही है।
वितरित किया जा रहा है भोजन
मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार पोकरण विधायक अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण विभाग मंत्री शाले मोहम्मद के निर्देशन में नगरपालिका की ओर से फलसूण्ड रोड पर स्थित अग्निशमन भवन परिसर में मुख्यमंत्री भोजन योजना का शिविर लगाया गया है। नगरपालिका अध्यक्ष आनंदीलाल गुचिया व सहायक राजस्व निरीक्षक रामस्वरूप गुचिया के नेतृत्व में अधिकारियों व कर्मचारियों की ओर से यहां आने वाले लोगों को भोजन करवाने के साथ परिवार के लिए टिफिन में भोजन दिया जा रहा है, ताकि कोई भूखा नहीं रहे।
गांवों तक पहुंचे भामाशाह
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते देशभर में लॉक डाउन की घोषणा की गई है। जिसके कारण मजदूर, गरीब, असहाय परिवारों के लिए रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। ऐसे में भामाशाह आगे आकर उनकी सहायता कर रहे है। पोकरण के भामाशाह कपिल गांधी व दीपक राठी की ओर से दो दिनों तक पोकरण में गरीबों व जरुरतमंदों को राशन सामग्री पहुंचाई गई। शुक्रवार को वे ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचे। उन्होंने केलावा गांव पहुंचकर 13 परिवारों में राशन सामग्री का वितरण किया। इन परिवारों में बाल विधवा महिलाएं, नैत्रहीन दम्पत्ति, दिव्यांग लोग शामिल थे। राशन सामग्री मिलने पर उनकी आंखों से आंसूू छलक उठे। भामाशाह गांधी व राठी की ओर से परिवारों को उनकी माली हालत देखते हुए नकद राशि भी दी गई। इस मौैके पर गांव के अब्दुल सत्तारखां आजाद, इनाम मेहर, आरबखां, बच्चनसिंह सहित कई लोग उपस्थित थे, जिन्होंने भामाशाहों का आभार जताया।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned