Video: गणगौर का पर्व हर्षोल्लास से मनाया

गणगौर का पर्व हर्षोल्लास से मनाया

By: Deepak Vyas

Updated: 16 Apr 2021, 12:40 PM IST

पोकरण. गणगौर का पर्व गुरुवार को परंपरागत, धार्मिक मान्यताओं व उत्साह के साथ कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण शोभायात्रा का आयोजन नहीं किया गया। सुहागिनों की ओर से अमर सुहाग व कुंआरी कन्याओं की ओर से अच्छे व सुयोग्य वर की कामना को लेकर मनाया जाना जाने वाला गणगौर पर्व कस्बे में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस मौके पर महिलाओं व कन्याओं ने भगवान शिव के प्रतीक ईसर व देवी के प्रतीक गौर की प्रतिमाओं की पूजा-अर्चना की। गणगौर के पर्व की कथा व पूजन किया गया। नए परिधानों व आभूषणों से सजी-धजी महिलाएं, युवतियां व कन्याएं आकर्षण का केन्द्र बनी रही।
दूसरे वर्ष भी नहीं निकली शोभायात्राएं
प्रतिवर्ष गणगौर के पर्व के मौके पर महिलाओंं व कन्याओं के समूह शोभायात्रा निकालकर फोर्ट रोड स्थित नेहरु बालोद्यान जाती है तथा यहां कथा श्रवण करने के साथ पूजन करती है। इस दौरान बालोद्यान में दिनभर भीड़ रहती है। गत वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन लगा हुआ था। इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर बढ़ती जा रही है। जिसके कारण महिलाओं की ओर से शोभायात्रा नहीं निकाली गई। उनकी ओर से घरों में ही पूजा-अर्चना की गई तथा व्रत रखकर महिलाओं ने अपने पति की दीर्घायु व कुंआरी कन्याओं ने सुयोग्य वर के लिए प्रार्थना की गई।
फोर्ट में नहीं हुआ मेले का आयोजन
कोरोना वायरस के संक्रमण की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लगातार दूसरे वर्ष भी गणगौर का मेला पोकरण में रद्द कर दिया गया है। गौरतलब है कि प्रतिवर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया के मौके पर पोकरण के बालागढ़ फोर्ट में गणगौर का मेला लगाकर ईसर व गौर की सवारी निकाली जाती है। इस मेले में सैंकड़ों महिलाएं शिरकत करती है। गत वर्ष लॉकडाउन के कारण मेला रद्द किया गया था। इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में सरकार की गाइडलाइन की पालना करते हुए मेले के आयोजन को रद्द कर दिया गया है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned