ठगी करवाने वाले गिरोह का मुख्य आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

ठगी करवाने वाले गिरोह का मुख्य आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

By: Deepak Vyas

Published: 09 Jun 2021, 10:17 AM IST

जैसलमेर. सदर पुलिस ने ठगी करवाने वाले गिरोहके मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि गत 17 मई को मुरलीधर दईया निवासी डाबला ने प्राथमिकी दर्ज करवाई थी कि उसके पास दो व्यक्ति आए व कहा कि उनकी मां का सोने का हार हैं, हम लॉकडाउन में फंसे हुए हैं। वापिस जाने के लिए पैसे नहीं हैं, मेरी मां ने दस लाख का कीमत बताई हैं, जो सोना करीब एक किलो होगा। हमें जैसे तैसे बिकवा दो, उसके बाद एक असली सोने का टुकड़ा उसी चेन का देते हुए सुनार से जांच करवाने को कहा। वहा जांच में सोने का होना पाए जाने पर उसे 1. 20 लाख रुपए नकदी दिए और बाकी के पैसे चेन बेचने के बाद देने को कहा। उक्त चेन की जांच करवाने पर मुरलीधर पुन: सुनार के पास गया तो उसे पता चला कि वह नकली चेन हैं। इस पर पुलिस थाना सदर जैसलमेर में उक्त प्रकरण दर्ज कर प्रभारी थाना माधोसिंह ने जांच शुरू की। पुलिस अधीक्षक जैसलमेर डॉ. अजयसिंह के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जैसलमेर विपिन शर्मा, वृत्ताधिकारी वृत जैसलमेर श्यामसुन्दरसिंह के सुपरविजन में थानाधिकारी पुलिस थाना सदर जैसलमेर प्रेमदान रतनू के नेतृत्व में विशेष टीम में शामिल सहायक उप निरीक्षक माधोसिंह मय कांस्टेबल अनिल विश्नोई, मघाराम व तकनिकी सहायक के लिए साइबर सैल प्रभारी मुकेश बीरा मय भीमरावसिंह की गठित कर प्रकरण का खुलासा करने के निर्देश दिए। टीम ने तकनीकी आधार पर आरोपी का पता लगाकर संदिग्ध वचनाराम उर्फ रमेश पुत्र हरीराम बागरी निवासी बीबलसर, जालौर को दस्तयाब कर पूछताछ की। पूछताछ में उसने प्रकरण की वारदात करना स्वीकार किया। पूछताछ में आरोपी ने राजस्थान व गुजरात में कई जगह वारदात को अंजाम देने स्वीकार किया।
यूं पुलिस के हत्थे चढ़ा ठग
तकनीकी आधार पर आरोपी का लोकेशन गांधव आने पर थानाधिकारी सदर प्रेमदान रतनू ने तत्काल स्थानीय पुलिस की सहायता लेते हुए टीम को गांधव खुर्द भेजा, जहां से दस्तयाब कर व पूछताछ करने पर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार आरोपी शातिर दिमाग का है और गिरोह के रूप में काम करते हैं।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned