हांफ रही व्यवस्था, कांप रहा जीएसएस !

-लघु उद्योगों पर गिरी बिजली, कृषि कनेक्शन धारियों की आसामन छू रही परेशानियां
-लाखों रुपए खर्च कर डिस्कॉम ने करवाया था मरम्मत कार्य
-फिर भी स्थिति जस की तस, नहरी क्षेत्र नाचना व समीपवर्ती क्षेत्रों की पीड़ा

By: Deepak Vyas

Published: 13 Sep 2021, 07:28 PM IST


नाचना. गांव में गत लगभग एक सप्ताह से विद्युत व्यवस्था पूरी तरह से लडख़ड़ाई हुई है, प्रतिदिन 50 बार विद्युतापूर्ति की आंख मिचौली के चलते एक और जहां लोगों के घरों में फ्रीज, पंखे, बल्ब, वाटर पम्प, कूलर आदि विद्युत उपकरण निष्क्रिय हो रहे हैं। गांव में पेयजल व्यवस्था भी पूरी तरह से लडख़डा़ गई है। विद्युत चलित छोटे-मोटे उद्योगों के कार्य पर भी इसका प्रतिकूल असर पड़ रहा है। यही नहीं आसपास के गांवों और ढाणियों तथा कृषि कनेक्शन धारियों को भी बिजली की लडख़ड़ाई व्यवस्था से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि बीते वर्ष नाचना गांव में लाखों रुपए खर्च कर डिस्कॉम की ओर से मेंटीनेंस का कार्य करवाया गया था, जिसमें सीमेंट के पोल व बिजली तारों को बदला गया था। उसके बाद डिस्कॉम के अधिकारियों की ओर से ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि अब गांव में विद्युत आपूर्ति संबंधित परेशानी नहीं रहेगी। नाचना व आसपास के गांव में चरमराई विद्युत व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए डिस्कॉम के अधिकारी व कर्मचारी भी बेबस होते दिखाई दे रहे हैं, वे चाह कर भी व्यवसथा में सुधार नहीं कर पा रहे है। इसका मुख्य कारण नाचना में 33/11 केवी जीएसएस पर स्थापित ट्रांसफार्मर पर क्षमता से अधिक लोड पडऩा।
हकीकत यह भी
-नाचना 33/11 केवी जीएसएस पर 3.15 एमवी मेगा वाल्ट ऐम्पियर का ट्रांसफार्मर स्थापित किया हुआ है।
-इसकी क्षमता अधिकतम 200 ऐम्पियर लोड लेने की है, लेकिन ट्रांसफार्मर पर वर्तमान में लगभग 300 ऐम्पियर का लोड पड़ रहा है।
-इस जीएसएस से नाचना फीडर के अलावा ताड़ाना फीडर जिसकी लंबाई लगभग 60 किलोमीटर, अवाय फीडर 50 किलोमीटर, पांचे का तला फीडर 50 किलोमीटर, आर्मी टावर फीडर 40 किलोमीटर लंबी है।
-इन विद्युत फीडर पर घरेलू कनेक्शनों के साथ साथ व्यवसायिक व एग्रीकल्चर तथा पीएचडी पर पम्प हाउसों के कनेक्शन दे रखे हैं।
-अवाय फीडर 160 एम्पियर, आर्मी टावर 45 ऐम्पियर, नाचना 25 एम्पियर, इंदिरा गांधी नहर कॉलोनी 30 एम्पियर पांचे का तला का 20 एम्पियर तथा पीएचडी कनेक्शनों का लोड आदि मिलाकर लगभग 300 ऐम्पियर का लोड नाचना जीएसएस के ट्रांसफार्मर पर पड़ रहा है।
-नाचना में स्थापित जीएसएस गांव के बीच में होने से जीएसएस से अलग अलग फीडर निकालना भी असंभव सी बात हो गई है।
-एग्रीकल्चर कनेक्शनो में रबी फसल के समय और अधिक लोड पडऩे से आने वाले दिनों में नाचना गांव तथा आसपास के गांवों में विद्युत आपूर्ति की ओर भी अधिक विकट समस्या बनने की आशंकाएं बनी हुई है।
यूं हो सकेगा समाधान
जब तक नये जीएसएसो का निर्माण नहीं हो जाता, तब तक नाचना जीएसएस पर स्थापित ट्रांसफार्मर की लोड क्षमता बढ़ाए जाने की जररूरत है। कनिष्ठ अभियंता के रिक्त दो पदों पर नियुक्ति करवाई जाए, ताकि विद्युत व्यवस्था सुचारू हो सके तथा लोगों को राहत मिल सके ।

करवाएंगे शीघ्र समाधान
मैन हाल ही में कार्य भार ग्रहण किया है। हकीकत यह है कि दिन में कई बार बिजली की ट्रिपिंग चलती रहती है, जिसका कारण ट्रांसफार्मर का ओवरलोड होना है। उच्च अधिकारियों को इस सम्बन्ध में अवगत करवा कर समस्या का शीघ्र समाधान करवा दिया जाएगा।
-रमेश बारूपाल, सहायक अभियंता डिस्कॉम, उपखंड नाचना

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned