scriptपानी निकासी के नहीं पुख्ता प्रबंध, बारिश में बढ़ेगी दिक्कत | Patrika News
जैसलमेर

पानी निकासी के नहीं पुख्ता प्रबंध, बारिश में बढ़ेगी दिक्कत

प्रदेशभर में मानसून की बारिश का दौर चल रहा है। हालांकि पोकरण क्षेत्र में अभी तक बारिश शुरू नहीं हुई है, लेकिन आगामी दिनों में बारिश की संभावना है।

जैसलमेरJul 09, 2024 / 07:54 pm

Deepak Vyas

hsn
प्रदेशभर में मानसून की बारिश का दौर चल रहा है। हालांकि पोकरण क्षेत्र में अभी तक बारिश शुरू नहीं हुई है, लेकिन आगामी दिनों में बारिश की संभावना है। कस्बे में कई ऐसे गली मोहल्ले व सार्वजनिक स्थल है, जहां पानी की निकासी के पुख्ता प्रबंध नहीं है। जिसके कारण आमजन को परेशानी से रु-ब-रु होना पड़ता है। जबकि जिम्मेदार कोई ध्यान नहीं दे रहे है। जानकारी के अनुसार पोकरण क्षेत्र में मानसून की बारिश का दौर आगामी दिनों में शुरू हो जाएगा। कस्बे में खेल मैदान, सार्वजनिक स्थल, गली मोहल्ले व मुख्य मार्गों पर बारिश के पानी निकासी के पुख्ता प्रबंध नहीं है। जिसके कारण पानी कई दिनों तक जमा रहकर कीचड़ में तब्दील हो जाता है। जिससे आमजन को परेशानी होती है। साथ ही मच्छरों की भरमार हो जाने से मौसमी बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। बावजूद इसके जिम्मेदारों की ओर से समय रहते बारिश के पानी की निकासी के पुख्ता प्रबंध को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

यहां सर्वाधिक समस्या

कस्बे के राउमावि के मैदान में सबसे अधिक समस्या रहती है। जुलाई-अगस्त माह में मानसून की बारिश के दौरान यहां तालाब की तरह पानी जमा हो जाता है, जो कई दिनों तक रहता है। 15 अगस्त को राष्ट्रीय समारोह के साथ ही अन्य कार्यक्रम इस मैदान में होते है। इस दौरान परेशानी होती है। इसी प्रकार कस्बे के केन्द्रीय बस स्टैंड, भवानीपुरा, जोधनगर, जोधपुर रोड के किनारे, व्यास कॉलोनी में बारिश के दौरान पानी जमा हो जाता है। जिनके निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। धीरे-धीरे पानी सूखने पर ही राहत मिलती है।

बीमारियां फैलने का खतरा

एक ही जगह पर पानी ज्यादा दिनों तक जमा रहने से कीचड़ का रूप ले लेता है। कीचड़ के कारण धीरे-धीरे गंदगी का साम्राज्य बढऩे लगता है। कीचड़ के कारण आमजन को आवागमन में परेशानी होती है। गली मोहल्लों में कीचड़ जमा हो जाने से लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो जाता है। इसी प्रकार गंदगी के कारण मच्छरों की भरमार हो जाती है। इन मच्छरों व गंदगी के कारण मौसमी बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ जाता है। मलेरिया, डेंगू सहित अन्य बीमारियों के मरीज भी बढ़ जाते है। जिससे आमजन को परेशानी होती है।

निकासी के हो प्रबंध तो मिले राहत

नगरपालिका की ओर से वर्षों पूर्व कस्बे के गली मोहल्लों में नाले नालियों का निर्माण करवाया गया था। कई जगहों पर नालियां जमींदोज हो चुकी है। ऐसे में यदि समय पर नालियों की मरम्मत करवाई जाए तो गंदे पानी के साथ ही बारिश के पानी की निकासी हो सकती है। इसके अलावा जहां नाले-नालियां नहीं है, वहां समय रहते निर्माण करवा दे और पानी की निकासी की व्यवस्था कर दे तो राहत मिल सकती है।

Hindi News/ Jaisalmer / पानी निकासी के नहीं पुख्ता प्रबंध, बारिश में बढ़ेगी दिक्कत

ट्रेंडिंग वीडियो