JAISALMER NEWS- जैसलमेर जिले के पोकरण में इस सरकारी भवन में घोटाले को लेकर आई यह बडी खबर

2.8 करोड़ के भवन निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल, जांच को टीम पहुंची

By: jitendra changani

Published: 09 Mar 2018, 11:14 AM IST

- पोकरण में कृषि विज्ञान केन्द्र व किसान भवन निर्माण में गुणवत्ता नहीं होने का आरोप
- बीकानेर से आई टीम ने की जांच
पोकरण. रामदेवरा रोड पर बीएसएफ परिसर के पास बन रहे कृषि विज्ञान केन्द्र व किसान भवन की गुणवत्ता पर सवाल खड़े होने लगे हैं। कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रभारी ने मानक के अनुसार निर्माण नहीं होने का आरोप लगाते हुए इसकी जांच की मांग की है। इस पर गुरुवार को बीकानेर से जांच के लिए टीम यहां पहुंची। गौरतलब है कि बीएसएफ परिसर के पास 1.43 करोड़ रुपए की लागत से कृषि विज्ञान केन्द्र व 65 लाख रुपए की लागत से किसान विश्राम गृह का निर्माण करवाया जा रहा है। गत कई महिनों से निर्माण चल रहा है। गत दिनों केन्द्र प्रभारी डॉ. केडी खीडिय़ा ने कार्य के दौरान गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखने, आईएसआई मार्क के सामान का उपयोग नहीं करने, जी-शिड्यूल में उल्लेखित टाइल्स, पाइप, सैनेटरी, सीमेंट का उपयोग नहीं करने का आरोप लगाते हुए उच्चाधिकारियों को ज्ञापन प्रेषित किए तथा जांच की मांग की।
अधिकारियों ने की जांच
निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखे जाने की मांग के बाद गुरुवार को जांच के लिए बीकानेर से टीम पोकरण पहुंची। बीकानेर सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता रूपनारायण टाक, सहायक अभियंता ललितकुमार व सुपरवाइजर भीखसिंह ने निर्माण कार्य की जांच की। अधिशासी अभियंता टाक ने बताया कि निर्माण कार्य के गुणवत्ता की जांच की जा रही है। यदि कोई लापरवाही या सामान गुणवत्ता का नहीं पाया जाता है, तो कार्यकारी एजेंसी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

 

 

 

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

जर्जर हुआ वर्षों पुराना आंगनबाड़ी भवन
- मरम्मत के अभाव में कभी भी हो सकता है हादसा
लाठी कस्बे में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र भवन जर्जर हालत में होने से कभी भी हादसा हो सकता है। इसको लेकर जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे हैं। कस्बे के मेघवालों का मोहल्ले में स्थित आंगनबाड़ी केंद्र भवन जर्जर हो चुका है। इसकी दीवारों में बड़ी-बड़ी दरारें आ गई हैं तथा खिड़कियां टूट चुकी हैं। फर्श पर भी बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। बारिश के दौरान छत से भवन के अंदर पानी भर जाता है। आसपास गंदगी का ढेर लगा हुआ है। वहीं परिसर में बना टांका भी जर्जर हालत में है। इसका ढक्कन नहीं होने से कभी भी हादसा हो सकता है। टांके के अंदर जमा गंदगी से बीमारियों की आशंका बनी हुई है। वार्डपंच प्रियंका दर्जी ने बताया कि संबंधित विभाग को कई बार अवगत करवाने के बावजूद ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वर्षों पहले बने भवन की मरम्मत नहीं हो रही। ऐसे में दीवारों का प्लास्टर गिरने लगा है, बाहर से पत्थर निकल रहे हैं तथा रोशनदान भी टूट चुके हैं। इसके बावजूद प्रशासन की ओर से भवन को दुरुस्त नहीं कराया जा रहा है। ग्रामीणों ने जल्द जर्जर भवन को ठीक करवाने की मांग की है।

jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned