Student union election 2019:हंगामे के बीच एबीवीपी समर्थित तीन प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित,एनएसयूआई कार्यकर्ता करते रहे विरोध,उधर सूची हुई जारी

Student union election 2019:हंगामे के बीच एबीवीपी समर्थित तीन प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित,एनएसयूआई कार्यकर्ता करते रहे विरोध,उधर सूची हुई जारी
Student union election 2019:हंगामे के बीच एबीवीपी समर्थित तीन प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित,एनएसयूआई कार्यकर्ता करते रहे विरोध,उधर सूची हुई जारी

Deepak Vyas | Updated: 24 Aug 2019, 10:38:41 AM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

पोकरण. राजकीय कन्या महाविद्यालय में हंगामे के बीच एबीवीपी के तीन प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचन हो गया। जिन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

जैसलमेर/पोकरण. राजकीय कन्या महाविद्यालय में हंगामे के बीच एबीवीपी के तीन प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचन हो गया। जिन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। गौरतलब है कि छात्रसंघ चुनाव 2019 के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालय में गुरुवार को नामांकन पत्र दाखिल करने की तिथि थी। इस दौरान अंतिम समय तक एबीवीपी की ओर से अध्यक्ष पद के लिए सुमित्रा, उपाध्यक्ष के लिए ललिता ओझा, महासचिव पद के लिए पूजा व संयुक्त सचिव पद के लिए पूजा दर्जी की ओर से नामांकन पत्र जमा करवाया गया। जांच में संयुक्त सचिव पद के लिए भरे गए नामांकन पत्र में पूजा दर्जी की ओर से अपने हस्ताक्षर नहीं किए गए थे। जिस पर उसका नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया। जबकि शेष तीनों प्रत्याशियों के नामांकन पत्र सही पाए गए।
तीनों पदों पर हुआ निर्विरोध निर्वाचन
राजकीय कन्या महाविद्यालय के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. गुरमुखसिंह व मुख्य निर्वाचन अधिकारी नीतू ने बताया कि तीनों पदों पर एक-एक नामांकन पत्र प्राप्त होने तथा नाम वापसी में किसी भी प्रत्याशी की ओर से नाम वापिस नहीं लेने पर तीनों प्रत्याशियों को निर्विरोध निर्वाचित किया गया। उन्होंने बताया कि तीनों प्रत्याशियों को निर्वाचन का प्रमाण पत्र सुपुर्द किया गया। राजकीय महाविद्यालय के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ.गिरधारीलाल जयपाल ने सभी नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।
एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने जताया विरोध
राजकीय कन्या महाविद्यालय में नामांकन पत्र जमा करवाने को लेकर गुरुवार को हुआ विवाद व हंगामा शुक्रवार को भी दोपहर तक चलता रहा। शुक्रवार को सुबह 10 बजे वैध व अवैध नामांकन पत्रों की सूची जारी करनी थी, लेकिन विरोध को देखते हुए तहसीलदार रामसिंह जोधा की देखरेख में एक कमेटी का गठन कर नामांकन पत्रों की जांच की गई। दोपहर करीब 12 बजे बाद संयुक्त सचिव का एक नामांकन पत्र खारिज कर शेष प्रत्याशियों की सूची जारी की गई। इसके बाद एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का विरोध बढ़ गया। एनएसयूआई प्रत्याशियों व कार्यकर्ताओं ने नामांकन पत्रों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए बताया कि कोई भी नामांकन पत्र पूर्ण नहीं था। बावजूद इसके महाविद्यालय प्रशासन ने उन्हें पूर्ण करवाकर निर्विरोध निर्वाचित किया है। उन्होंने नामांकन पत्रों को खारिज करने की मांग को लेकर महाविद्यालय के बाहर धरना देकर विरोध जताया। राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.गिरधारीलाल जयपाल की समझाइश के बाद छात्राओं ने विरोध समाप्त किया। इसके बाद भी निर्विरोध निर्वाचन होने तक कार्यकर्ता बाहर खड़े विरोध करते रहे, लेकिन महाविद्यालय के दरवाजे बंद कर निर्विरोध निर्वाचन व शपथ दिलाने की प्रक्रिया पूर्ण की गई।
विकास करवाना रहेगा प्राथमिकता
कन्या महाविद्यालय में विकास कार्य हो तथा सभी छात्राएं प्रतिदिन महाविद्यालय पहुंचे और सुचारु रूप से अध्ययन कार्य हो सके, यही प्राथमिकता रहेगी। छात्रहितों की रक्षा के लिए वे सदैव तत्पर रहेगी।
सुमित्रा सोलंकी, अध्यक्ष छात्रसंघ राजकीय कन्या महाविद्यालय, पोकरण।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned