सपना पूरा करने को गड़ीसर मार्ग से तय करना होगा हवामहल का सफर !

-कई महिला अभ्यर्थियों को सैकड़ों किलोमीटर दूर दिया रीट परीक्षा का केंद्र
-जबकि महिला अभ्यर्थियों को गृह जिला आवंटन का था आश्वासन
-ई-मित्र संचालकों की गलतियों ने भी काम बढ़ाया

By: Deepak Vyas

Published: 22 Sep 2021, 02:17 PM IST


जैसलमेर. आगामी २६ सित बर को उम्मीदों की राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) आयोजित होने वाली है। इस परीक्षा में सरकारी शिक्षक-शिक्षिका बनने का सपना पाले जिले के हजारों अभ्यर्थी बैठने वाले हैं। परीक्षा से पहले कई अ यर्थियों के सामने मुसीबतों का पहाड़ भी खड़ा हो गया है। गत दिनों प्रवेश पत्र माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से अपलोड किए गए। उसमें दिए गए परीक्षा केंद्र का नाम देखकर कई महिला अभ्यर्थियों के पांवों तले जमीन खिसक गई है। जहां अधिकांशत: महिलाओं को गृह जिला मुख्यालय जैसलमेर में ही बोर्ड ने परीक्षा केंद्र आवंटित किया है, वहां कुछ को जैसलमेर की बजाए जोधपुर और जयपुर संभाग तक परीक्षा के लिए भेजा गया है। अब उनके सामने परीक्षा देने जाना भी अपने आप में विकट समस्या बन गई है। साथ ही अन्य महिला अ यर्थियों को कहीं बाहर न जाकर जैसलमेर में परीक्षा देने की सुविधा और कुछ को सैकड़ों किलोमीटर जाने की बेबसी सालने वाली है। शिक्षा विभाग के अधिकारी इसे बोर्ड का निर्णय बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं। दूसरी तरफ ई-मित्र संचालकों की लापरवाही कई अ यर्थियों के लिए मुसीबत का सबब बन गई है। बताया जाता है कि कई अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र पर किसी और का फोटो अथवा हस्ताक्षर चस्पा भी होकर आया है। जानकारी के अनुसार अधिकांश जनों ने परीक्षा के आवेदन पत्र ई-मित्र केंद्रों के माध्यम से भरवाए। बड़ी तादाद में भीड़ आ जाने से संबंधित संचालकों से कुछ गलतियां आवेदन भरते समय हो गई। अब इसका हर्जाना अभ्यर्थियों को चुकाना पड़ रहा है।
थोड़ा तो नजदीक भेजो
जिन महिला अ यर्थियों को बाहरी शहरों में परीक्षा केंद्र मिला है, उनकी मांग है कि अव्वल तो उन्हें जैसलमेर मु यालय पर ही परीक्षा देने की सुविधा दिलाई जाए और अगर अब ऐसा संभव नहीं हो तो निकटतम पड़ोसी बाड़मेर अथवा जोधपुर जिले के फलोदी अथवा जोधपुर में केंद्र आवंटित हो क्योंकि कई महिला अ यर्थियों को जयपुर संभाग में केंद्र दिए जाने की जानकारी मिली है। जानकारों ने बताया कि बोर्ड ने अ यर्थी से परीक्षा केंद्र के लिए आवेदन भरे जाने के समय प्राथमिकता क्रम पूछा था। महिलाओं को गृह जिला आवंटित करने का भरोसा भी दिलाया गया था।
सब चाहे ड्यूटी करना
दूसरी ओर आगामी २६ सित बर को दो पारियों में होने वाली रीट परीक्षा में बतौर वीक्षक ड्यूटी करने की चाहत अधिकांश शिक्षकों में देखी जा रही है। इसके लिए मिलने वाले भत्ते को प्राप्त करने के लिए शिक्षक-शिक्षिकाएं रीट की ड्यूटी बजाने को बेताब बताई जाती हैं। शिक्षा अधिकारियों के पास वे पहुंच रहे हैं तो कुछ शिक्षक संगठनों के पदाधिकारियों से सिफारिश करवा रहे हैं। गौरतलब है कि रीट परीक्षा के लिए जैसलमेर मु यालय पर १७ केंद्र स्थापित किए गए हैं। सभी सरकारी -गैरसरकारी प्रमुख शिक्षण संस्थानों में केंद्र बनाए गए हैं। जहां २६ तारीख को सुबह १० से १२.३० और २.३० से सायं ५ बजे तक दो पारियों में परीक्षा होगी। जिले में प्रथम पारी में एल वन के ५५८१ और द्वितीय पारी में एल टू के ५५८४ परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। सभी पुरुष अभ्यर्थियों को जिले ही नहीं जोधपुर संभाग से बाहर परीक्षा केंद्र आवंटित किया गया है। कई लोगों को परीक्षा केंद्र बाहरी जिलों में उपखंड और तहसील मुख्यालयों पर मिला है। जहां उन्हें रात्रि में ठहरने की व्यवस्था को लेकर संदेह है।

फैक्ट फाइल -
-२६ सित बर को होगी रीट परीक्षा
-५५८१ जने प्रथम पारी की परीक्षा देंगे
-५५८४ अ यर्थी दूसरी पारी में बैठेंगे

परीक्षा केंद्र बोर्ड ने आवंटित किए
सभी अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र परीक्षा के आयोजक बोर्ड की तरफ से आवंटित किए गए हैं। इसमें हम स्थानीय स्तर पर कुछ नहीं कर सकते। जिनके प्रवेश पत्र संबंधी कोई गड़बड़ी है, वे अभ्यर्थी निर्धारित प्रक्रिया अपना सकते हैं।
-दलपतसिंह, जिला शिक्षा अधिकारी मा., जैसलमेर

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned