JAISALMER NEWS- इस परीक्षा में अव्वल आने के लिए शहर के कचरे पर डालना पड़ेगा पर्दा, नहीं तो होगी फजीहत

आज से होगा स्वच्छता सर्वे, रिपोर्ट के आधार पर मिलेगी रैंक

By: jitendra changani

Published: 04 Jan 2018, 11:02 AM IST

स्वच्छ शहर सर्वे आज से शुरू
सफाई के मोर्चे पर पिछाड़ी जैसलमेर को अगाड़ी दिखाने की चुनौती
-जैसलमेर को रैंकिंग देने दिल्ली से आएगा दल
-नगरपरिषद प्रशासन जुटा शहर को चमकाने में
जैसलमेर. जगह-जगह कूड़े-करकट के ढेर, आम रास्तों पर बहता सीवरेज का गंदला पानी...कुछइसी तरह की तस्वीर जैसलमेर शहर में साफ-सफाईव्यवस्था की बात करने पर उभरती है, लेकिन अब इसे बदलने की कवायद स्थानीय नगरपरिषद कर रही है।दरअसल, 4 जनवरी से जैसलमेर नगरपरिषद क्षेत्र में स्वच्छ सर्वेक्षण प्रारंभ हो रहा है। आगामी दिनों में 8 तारीख से केंद्र सरकार के स्तर से एक दल जैसलमेर में सफाईव्यवस्था और स्वच्छता मिशन की प्रगति का जायजा लेने आएगा। यही दल जैसलमेर शहर को स्वच्छता के मोर्चे पर रैंकिंग देने वाला है। यही वजह है कि, इन दिनों नगरपरिषद प्रशासन सफाई व्यवस्था को दुरूस्त बनाने के प्रयास में है।
रात्रिकालीन सफाई भी शुरू करवाई
जैसलमेर के मुख्य बाजारों व प्रमुख ऐतिहासिक स्थल सोनार दुर्ग में गत दिनों के दौरान दिन के अलावा रात के समय नगरपरिषद ने बुहारी की व्यवस्था शुरू करवाई है। एकत्रित हुए कचरा को वाहन के मार्फत संग्रहित कर हटवाया जा रहा है। वर्तमान में यह व्यवस्था दुर्ग, गोपा चौक, गांधी चौक, हनुमान चौराहा क्षेत्र में संचालित की जा रही है। इसके अलावा दिन के समय शहर भर में कचरा संग्रहण वाहन घर-घर जाकर कचरे का संग्रहण कर रहे हैं। वाहनों पर जीपीएस सिस्टम भी लगाया गया है। गौरतलब है कि, गीले व सूखे कचरे के निस्तारण की पुख्ता व्यवस्था अभी जैसलमेर में नहीं है।
वातावरण निर्माण पर जोर
जैसलमेर शहर में स्वच्छता के प्रति वातावरण निर्माण के लिए नगरपरिषद गुरुवार से प्रयास शुरू कर रही है। इस उद्देश्य से एनयूएलएम की तरफसे शहर में रैली निकाली जाएगी तथा खुले में शौच जाने की प्रवृत्ति को छोडऩे के प्रति लोगों समझाइश के लिए नुक्कड़ नाटक खेले जाएंगे। वास्तविकता यह है कि शहर में अभी तक कई इलाके ओडीएफ नहीं हो पाए हैं। कच्ची बस्तियों के बाशिंदों को सार्वजनिक शौचालयों का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जाना है।

 

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

पहली बार जैसलमेर का सर्वे
जानकारी के अनुसार स्वच्छ भारत मिशन के तहत पहली बार जैसलमेर में बाहर से दल आकर सर्वेक्षण करेगा।बताया जाता है कि, केंद्र सरकार स्तर से यह दल अगली 8 से 13 जनवरी तक जैसलमेर में रहेगा।इसी सर्वे के आधार पर जैसलमेर को देश के चार हजार से अधिक छोटे-बड़े शहरों में रैंक दी जाएगी।यह दल जैसलमेर में खुले में शौच से मुक्ति की स्थिति, सीवरेज प्रणाली, साफ-सफाईव्यवस्था, घर-घर कचरा संग्रहण, गीले व सूखे कचरे का निस्तारण आदि को परखेगा।इसी आधार पर शहर को स्वच्छता मिशन के तहत रैंक मिलेगी।
यह प्रयास किए शुरू
जैसलमेर को साफ-सुथरा बनाने के लिए नगरपरिषद की तरफ से कई स्तर पर प्रयास गत दिनों से शुरू किए जा रहे हैं। इस दौरान सीवरेज लाइनों को सीवर जेट मशीन से साफ करने की कवायद की जा रही है। बुधवार को जिला अस्पताल की समस्याग्रस्त सीवरेज लाइन में मशीन लगाई गई, जबकि इससे पहले कईदिनों तक पंचायत समिति सम चौराहा से लेकर हनुमान चौराहा, गीता आश्रम मार्ग आदि मुख्य क्षेत्रों में बाहर से मंगवाई गई मशीन से सफाई कार्य जारी था।उम्मीद की जा रही है कि, इससे मुख्य सडक़ों पर ओवरफ्लो होकर गंदे पानी की समस्या से लोगों को निजात मिलेगी।हालांकि यह और बात है कि, सिनेमा हॉल के पास, कचहरी मार्ग, गांधी चौक, मदरसा रोड, गुलासतला आदि क्षेत्रों में यह समस्या रोजमर्रा की बात बनी हुई है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

फैक्ट फाइल -
-08 से 13 जनवरी तक होगा बाहरी सर्वे
-15 वार्डों में नियमित सफाईकर्मी करते हैं काम
-20 वार्डों में सफाई व्यवस्था ठेका पद्धति पर
-300 सफाईकर्मी शहर में करते हैं काम

अच्छी रैंकिंग के लिए प्रयास
जैसलमेर को स्वच्छता मिशन के तहत अच्छी रैंक मिले, इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। साफ-सफाई से लेकर घर-घर कचरा संग्रहण का कार्य जोर-शोर से किया जा रहा है।अन्य सूत्रों पर भी ध्यान दिया जा रहा है।
-मनोज बैरवा, प्रभारी, स्वच्छ भारत मिशन, नगरपरिषद, जैसलमेर

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned