जैविक खेती पर दिया प्रशिक्षण

जैविक खेती पर दिया प्रशिक्षण

By: Deepak Vyas

Published: 23 Sep 2021, 03:38 PM IST

पोकरण. भणियाणा उपखंड क्षेत्र के बांधेवा गांव में बुधवार को जैविक खेती विषय पर असंस्थागत प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 20 किसानों ने भाग लिया। केन्द्र के प्रसार वैज्ञानिक सुनीलकुमार शर्मा ने किसानों को जैविक खेती के समूह बनाकर खेती करने के लिए प्रेरित किया। जिससे किसान जैविक उपज को अधिक मूल्यों पर बाजार में बेच सकते है। उन्होंने जैविक उत्पादों को दैनिक आहार में शामिल कर उत्तम स्वास्थ्य और बीमारियों पर आने वाले खर्च को कम करने की बात कही। उन्होंने ग्रामीण कृषकों को जैविक खेती, वर्मी कम्पोस्ट, सब्जी बगीचा, कम्पोस्ट निर्माण व खेत में पोषक तत्व प्रबंधन पर चर्चा की। मृदा वैज्ञानिक डॉ.बबलू शर्मा ने प्राकृतिक कीट नियंत्रण, वेस्ट डिकम्पोजर, कंपोस्ट खाद, जैविक बीज, हरी खाद का प्रयोग करने की जानकारी दी। जिससे भूमि की उर्वरा क्षमता बनी रहती है। प्रशिक्षण शिविर में पशुपालन वैज्ञानिक डॉ.रामनिवास ढाका ने बताया कि भारतीय परिस्थितियों के अनुसार जैविक दूध उत्पादन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। उन्होंने जैविक पशुपालन कृषि से अंतर संबंधित, पर्यावरण अनुकूल एक ऐसा प्रबंधन है, जिसमें पशुओं को जो भी चारा एवं दाना खिलाया जाता है, वह जैविक होना चाहिए। ऐसा करने से वातावरण में प्रदूषण के स्तर को कम करके स्वास्थ्यवर्धक बनाया जा सकता है। शिविर में उपस्थित किसानों को अन्य बिंदुओं पर भी प्रशिक्षण दिया गया।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned