अनार उत्पादन की उच्च तकनीकी अपनाने की जरूरत

अनार उत्पादन की उच्च तकनीकी अपनाने की जरूरत

Deepak Vyas | Updated: 14 Jun 2019, 06:17:46 PM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

कृषि विज्ञान केन्द्र जैसलमेर में अनार उत्पादन की उच्च तकनीकी से सम्बंधित पैकेजेज एवं अभ्यास के सम्बन्ध में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड की ओर से आयोजित हुआ।

जैसलमेर. कृषि विज्ञान केन्द्र जैसलमेर में अनार उत्पादन की उच्च तकनीकी से सम्बंधित पैकेजेज एवं अभ्यास के सम्बन्ध में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड की ओर से आयोजित हुआ। इस दौरान जैसलमेर, बाड़मेर, जोधपुर एवं जालोर के कुल 55 अनार उत्पादन करने वाले प्रगतिशील कृषकों ने भाग लिया। प्रशिक्षण में अनार उत्पादन में आने वाली प्रमुख समस्याओं और उनके निदान के बारे में विस्तृत रूप से कृषि वैज्ञानिकों के साथ संवाद किया। कार्यक्रम में अनार उत्पादन करने वाले कृषकों को प्रशिक्षण देने के लिए संसार अहमद उपनिदेशक एवं आलोक कुमर वरिष्ट बागवानी अधिकारी राष्ष्ट्रीय बागवानी बोर्ड ने अनार उत्पादन करने वाले किसानों को योजनाओ के बारे में जानकारी दी। कृषि विज्ञान केद्र के उद्यान वैज्ञानिक चन्द्रप्रकाश मीना, डॉ. रणवीर यादव, डॉ. हरजिन्द्रसिंह, शंकरलाल और काजरी के अध्यक्ष डॉ. एम पाटीदार एवं डॉ जुलियस ने कृषकों को अनार की उच्च तकनीक खेती साथ-साथ तुलाई उपरांत किए जाने वाले प्रमुख कार्य एवं भंडारण के बारे में जानकारी दी। क्षेत्र में अनार उत्पादन की संभावनाओ के बारे में विस्तृत से चर्चा की। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक डॉ. दिनेश कुमार प्रजापत ने भी किसानों को अनार की खेती पर कृषक उत्पादक संगठन बनाकर कार्य करने के लिए प्रेरित किया और नाबार्ड की प्रमुख योजनाओं के बारे में किसानों को जानकारियां दी। प्रगतिशील किसान जीवन खान ने विचार एवं अनुभव किसानों के साथ साझा किए और कार्यक्रम में आए किसानों एवं अधिकारियों व वैज्ञानिकों का धन्यवाद ज्ञापित किया

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned