JAISALMER NEWS- रीट परीक्षा में गडबड करते पकडा गया चाचा, कर रहा था गलत काम..यह सेवा बाधित रही

By: jitendra changani

Published: 12 Feb 2018, 06:45 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/3

जैसलमेर में रीट परीक्षा देने से पहले अभ्यर्थी की जांच करते हुए।

- 15.50 फीसदी अभ्यर्थी रहे अनुपस्थित
-कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच संपन्न हुई रीट परीक्षा
-जिला मुख्यालय पर 11 केंद्रों में हुई परीक्षा, -इंटरनेट सेवा बाधित रही
जैसलमेर. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से रविवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शिक्षक पात्रता परीक्षा (रीट) आयोजित की गई। कुल 6331 में से 5350 अभ्यर्थियों ने दो चरणों में आयोजित परीक्षा में भाग लिया वहीं 981 अनुपस्थित रहे। इस तरह से 84.5 फीसदी ने सरकारी शिक्षक बनने के लिए भाग्य आजमाया।प्रथम लेवल की परीक्षा में 2328 में से 1879 अभ्यर्थी शामिल हुए तथा 449 अनुपस्थित रहे वहीं द्वितीय लेवल की परीक्षा में 4003 में से 3471 अभ्यर्थी परीक्षा देने पहुंचे और 532 गैरहाजिर रहे।जैसलमेर में परीक्षा के लिए 11 केंद्रों की स्थापना की गई।जहां लेवल द्वितीय के अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी वहीं लेवल प्रथम के अभ्यर्थियों के लिए 5 परीक्षा केंद्र स्थापित किए गए थे।पुलिस के कड़े बंदोबस्त के बीच आयोजित परीक्षा के लिए जिला प्रशासन ने नकल और फर्जीवाड़ा पर अंकुश लगाने की मंशा से जिले में सुबह 10 से सायं 5 बजे तक इंटरनेट सेवाओं के संचालन पर रोक लगाई।इसी तरह से शहर में फोटो कॉपियर्स की दुकानें भी बंद रखवाई गई।जिला मुख्यालय के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में अपने भतीजे की जगह परीक्षा देने पहुंचे चाचा को पुलिस ने पकड़ा है।
लॉटरी से हुआ निर्णय कौन शिक्षक बनेगा वीक्षक
रीट परीक्षा के लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ने सुरक्षा के कई अपूर्व इंतजाम किए। किस परीक्षा केंद्र में कौनसा शिक्षक वीक्षक बनाकर भेजा जाएगा, इसका फैसला रविवार अलसुबह कलेक्ट्रेट में लॉटरी के जरिए किया गया। कई शिक्षकों को ड्यूटी पर नहीं लगाया, जिससे उनमें रोष भी देखा गया। बाद में ऐसे शिक्षकों ने विरोध जाहिर करते हुए जिला कलक्टर के नाम ज्ञापन दिया। जैसलमेर ? जिले में भी अन्य जिलों की भांति सुबह 10 से सायं 5 बजे तक इंटरनेट सेवाओं को जिला प्रशासन ने बंद करवा दिया। पुलिस की ओर से परीक्षा केंद्रों के बाहर व भीतर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए।स्वयं पुलिस अधीक्षक गौरव यादव सभी केंद्रों की व्यवस्थाएं जांचने पहुंचे।वहीं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयनारायण मीना एवं वृत्ताधिकारी मांगीलाल के निर्देशन में सभी केन्द्रों पर पुलिस जाप्ता तैनात कर सतत निगरानी रखी गई।
कइयों के चेहरे चमके तो कुछ दिखे उदास
दो पारियों में आयोजित रीट परीक्षा देकर केंद्र से बाहर निकले अभ्यर्थी आपस में प्रश्न पत्र पर विचार-विमर्श करते नजर आए। पुरुष परीक्षार्थी जहां बाहरी जिलों से यहां परीक्षा देने आए वहीं महिलाओं को जिला मुख्यालय पर ही परीक्षा केंद्र आबंटित किए गए।उन्हें बाहर नहीं भेजा गया। परीक्षा देकर बाहर निकले अभ्यर्थियों में कई ऐसे नजर आए जिनके चेहरे प्रश्न पत्रअच्छा होने की गवाही दे रहे थे वहीं अनेक के माथे पर चिंता की लकीरें नजर आई।
शहर में रौनक रही
रीट परीक्षा के लिए हजारों की तादाद में बाहर से आए अभ्यर्थियों के चलते जैसलमेर शहर में अच्छी रौनक नजर आई। शहर के मुख्य बाजारों व मार्गों पर अभ्यर्थी व उनके साथ आए लोगों की भीड़भाड़ से चाय-नाश्ते की दुकानों, भोजनालयों आदि के साथ बस ऑपरेटरों की अच्छी कमाई हुई।कईअभ्यर्थी परीक्षा देने के बाद बचे हुए समय में स्वर्णनगरी के दर्शनीय स्थानों पर भ्रमण करने भी पहुंचे।

फर्जीवाड़ा करता ‘चाचा’ धरा गया
जैसलमेर. जैसलमेर में आमतौर पर रीट परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हो गई लेकिन बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में भतीजे की जगह उसका सगा चाचा परीक्षा देने पहुंच गया। जिसे तत्परता दिखाते हुए पुलिस ने पकड़ लिया। रविवार को परीक्षा की गंभीरता के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर सुरक्षा इंतजामों की जांच की गई। इस दौरान पुलिस अधीक्षक को राजकीय बालिका उमावि में एक व्यक्ति पहचान पत्र के अनुसार संदिग्ध महसूस हुआ।जिस पर पुलिस अधीक्षक ने शहर कोतवाल एवं पर्यवेक्षक को परीक्षा के बाद उक्त व्यक्ति को चैक करने के निर्देश दिए गए। परीक्षा के बाद उसकी जांच की गई तो वह अभ्यर्थी रोशनलाल पुत्र भोलाराम विश्नोई निवासी खिदरत, फलोदी के स्थान पर उसका सगा चाचा महिपाल विश्नोई पुत्र मोहनलाल पाया गया।जिस पर प्राचार्य की रिपोर्ट पर पुलिस थाना कोतवाली में प्रकरण कर आरोपियों को दस्तयाब कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned