JAISALMER NEWS- रेगिस्तान में यहां बैनाम बीमारी दे रही मौत, भयावह हालात देख...

- पशुपालकों को सता रही चिंता

By: jitendra changani

Published: 07 May 2018, 03:15 PM IST

जैसलमेर . जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बैनाम बीमारी से गोवंश की मौत का सिलसिला नहीं थमने से पशुपालकों की चिंता बढ़ गई है। जिले के भादरिया लाठी गांव में फैली इस बीमारी ने अब तक दर्जनों दुधारु पशुओं को मौत की नींद सुला दिया है। ग्रामीणों की माने तो दो दिन बुखार आने के बाद पशु की मौत हो रही है।
बढ़ी पशुपालकों की चिंता
जैसलमेर के ग्रामीण क्षेत्रों में हो रही दुधारु पशुओं की मौत से पशुओं की चिंता को बढ़ा दिया है। वहीं उन्हें आर्थिक संबल दे रहे है।

 

Jaislamer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

चिकित्सा विभाग नहीं ले रहा सुध
ग्रामीणों की माने तो डेलासर गांव में पशुओं की हो रही मौत की सूचना चिकित्सा विभाग को दी गई है, लेकिन अब तक विभागीय जिम्मेदारों ने गांव की ओर रुख नहीं किया है। पशुपालकों को बीमारी पकड़ में नहीं आने से वे पशुओं का उपचार करवाएं इससे पहले ही पशु मौत की की नींद सो जाता है। अब तक गांव में एक सप्ताह में ही एक दर्जन से अधिक पशुओं की मौत हो चुकी है, लेकिन उपचार के लिए अब तक कोई खास इंतजाम नहीं किए गए है।

 

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

अज्ञात बीमारी से हो रही गायों की मौत
लाठी क्षेत्र के डेलासर गांव में इन दिनों पशुओं की अज्ञात बीमारी से हो रही मौतों के कारण पशुपालक चिंतित नजर आ रहे है। आईदानसिंह, मदनसिंह, खेमसिंह, पृथ्वीसिंह, जीवराजसिंह, मोतीसिंह, गिरधरसिंह सहित पशुपालकों ने बताया कि गांव में अब तक अज्ञात बीमारी से दो दर्जन गाय व भैंसों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि बीमारी में पहले पशुओं को बुखार आता है तथा मुंह से लार गिरने लगती है। इसके बाद पशु खाना पीना छोड़ देते है तथा एक-दो दिन में उनकी मौत हो जाती है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में पशुपालन विभाग को भी अवगत करवाया गया, लेकिन उनकी ओर से पशुओं के उपचार को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned