रोक के बावजूद दुर्ग में टैक्सियों की बेरोकटोक आवाजाही

-सैलानी हो रहे परेशान, बार-बार लग रहा जाम

By: Deepak Vyas

Published: 20 Nov 2020, 06:57 PM IST

जैसलमेर. स्वर्णनगरी में इन दिनों देशी सैलानियों की भारी आवक के बीच सोनार दुर्ग में दिन के समय रोक के बावजूद टैक्सियों की निर्बाध आवाजाही से पर्यटकों सहित अन्य लोग खूब परेशानी भोग रहे हैं। एक साथ कई टैक्सियों के आ जाने से दुर्ग की रपटीली घाटियों से लेकर हवा प्रोल के बाहर और दशहरा चौक में बार-बार जाम लगने से यातायात व्यवस्था गड़बड़ा रही है। कायदे से सुबह से लेकर अपराह्न बाद तक दुर्ग में पर्यटन सीजन के मद्देनजर टैक्सियों की आवाजाही पर रोक लगी हुई हैए इस सबके बावजूद थोड़े-थोड़े अंतराल में टैक्सियां बेधड़क वहां पहुंच रही है।
हादसे की भी आशंका
दुर्ग की अखे प्रोल से दशहरा चैक के बीच चलने वाली इन टैक्सियों के कारण पैदल चलने वाले पर्यटकों सहित पैदल तथा दुपहिया वाहनों पर आवाजाही करने वाले स्थानीय बाशिंदों को असुविधा तो ही रही हैए इसके अलावा क्षमता से अधिक सवारियां बैठाए जाने से कभी भी हादसा हो सकता है। कई चालक अधिकाधिक भाड़े के चक्कर में एक साथ आठ से दस जनों को टैक्सी में बैठा लेते हैं। कभी भी ब्रेक नहीं लगने या अचानक ब्रेक लगा दिए जाने से टैक्सी के पलटी खा जाने जैसा हादसा हो सकता है। इसी तरह से घुमावदार घाटियों में सामने से दुपहिया वाहन या आ रहा पैदल व्यक्ति भी इन टैक्सियों से टकरा सकता है।
कर रहे प्रदूषण
शहर में संचालित अधिकांश टैक्सियां अब डीजल से चलने वाली हैं। यातायात पुलिस ने शायद ही कभी इन टैक्सियों की फिटनेस जांचने की जहमत उठाई हो। दुर्ग पर चढ़ते समय ज्यादातर टैक्सियां पीछे काले धुएं का गुबार छोड़ते हुए गुजरती हैं। इससे वातावरण प्रदूषित हो रहा है। यहां तक कि वाहनों के धुएं से दुर्ग की प्राचीरों के नीचे लगे पत्थर तक काले पड़ गए हैं।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned