दहशत: श्रद्धालुओं की आवक में हुई 80 फीसदी तक की कमी

रामदेवरा. कोरोना वायरस को लेकर इन दिनों हर जगह दहशत का माहौल फैला हुआ है। राज्य सरकार की ओर से धारा 144 लगाने के बाद यहां आने वाले श्रद्धालुओं की तादाद 80 फीसदी तक कम हो गई है। ऐसे में बाजार सूने एवं सड़केंवीरान नजर आने लगी है। लोगों का व्यापार ठप हो गया है।

By: Deepak Vyas

Published: 19 Mar 2020, 09:12 PM IST

रामदेवरा. कोरोना वायरस को लेकर इन दिनों हर जगह दहशत का माहौल फैला हुआ है। राज्य सरकार की ओर से धारा 144 लगाने के बाद यहां आने वाले श्रद्धालुओं की तादाद 80 फीसदी तक कम हो गई है। ऐसे में बाजार सूने एवं सड़केंवीरान नजर आने लगी है। लोगों का व्यापार ठप हो गया है। गत एक पखवाड़े से कोरोना वायरस को लेकर हर जगह दहशत का माहौल बना हुआ है। कोरोना वायरस को लेकर सरकार काफी सतर्कता बरत रही है। इसी कड़ी में 18 मार्च से 31 मार्च तक जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रदेश के सबसे बड़े मंदिरों में शुमार रामदेवरा में भी दर्शन करने की व्यवस्था में बदलाव किया गया है। तीन चरणों में दो-दो घंटे के लिए ही मंदिर खुला रखा जा रहा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर लगातार चल रहे कोरोना प्रचार प्रसार के कारण देश के अलग-अलग क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालुओं ने यहां आने का कार्यक्रम भी निरस्त कर दिया है।
बाजार व सड़कें हुई सूनी
कोरोना वायरस के असर को देखते हुए इन दिनों धार्मिक स्थल रामदेवरा की सड़कें सूनी नजर आ रही है। मंदिर मुख्य प्रवेश द्वार से लेकर अन्य भीड़ भाड़ वाले स्थान पर भी सन्नाटा पसरा नजर आ रहा है। बहुत ही कम लोग ही दर्शन करने के लिए यहां पहुंच रहे है। ऐसे में श्रद्धालुओं से गुलजार रहने वाले धार्मिक स्थल इन दिनों एकदम विरान नजर आ रहा है। यहां पहुंचने वाले श्रद्धालु दर्शन करने के बाद रुकने की बजाय तुरंत प्रभाव से अपने गंतव्य स्थलों की तरफ निकल रहे है।
व्यापार को झटका
कोरोना वायरस के कारण मेला चौक में सैकड़ों की तादाद में छोटी-बड़ी दुकानों का काम ठप हो गया है। गांव में 50 से अधिक होटलें व 300 से अधिक धर्मशालाएं है, जो हमेशा श्रद्धालुओं से गुलजार हुआ करती थी, लेकिन गत एक सप्ताह से यहां के व्यवसाय पर बुरा असर पड़ा है। श्रद्धालुओं की आवक 80 फीसदी तक कम हो जाने से व्यापारियों के बेहाल होते नजर आ रहे है।
घरों में रुकना मुनासिब
प्रदेश में धारा 144 लगाने के बाद किसी भी स्थान पर 4 से ज्यादा व्यक्ति सामुहिक रूप से एकत्र नहीं हो सकते है। ऐसे में लोगों ने अपने घरों से बाहर निकलना बिल्कुल कम कर दिया है। कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए लोग अपने घरों में ही रुकना मुनासिब समझ रहे है। प्रशासन की ओर से सबसे बड़े मंदिरों में शुमार रामदेवरा मंदिर की प्रतिदिन फीडबैक भी ली जा रही है, ताकि यहां किसी प्रकार की कोई संदिग्ध गतिविधि या घटना नहीं हो। देश के किसी भी कोने से कोई कोरोना से संक्रमित व्यक्ति यहां नहीं आए, ताकि यहां का माहौल खराब ना हो। प्रदेश के सबसे बड़े धार्मिक स्थल पर इन दिनों सूनसान एवं सन्नाटा पसरा नजर आ रहा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned