Video- अधिवक्ता के साथ मारपीट के बाद अधिवक्ताओं ने उठाया यह बड़ा कदम

अधिवक्ताओं ने किया कार्य का बहिष्कार
-अधिवक्ता के साथ हुई मारपीट से उपजा रोष
-थाने के आगे धरना देकर किया विरोध प्रदर्शन

By: jitendra changani

Updated: 11 Sep 2017, 09:21 PM IST


जैसलमेर . पोकरण कस्बे में सोमवार को एक अधिवक्ता के साथ पुलिस थाने के बाहर हुई मारपीट के बाद बार एसोसिएशन ने दिन भर कार्य का बहिष्कार किया तथा पुलिस थाने के आगे धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया। जानकारी के अनुसार अधिवक्ता तनेरावसिंह भाटी सोमवार को सुबह साढे 10 बजे किसी कार्यवश पुलिस थाने आए तथा कुछ ही देर बाद पुलिस थाने से कचहरी की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान पूर्व में एक युवक के साथ हुई मारपीट को लेकर विरोध जता रहे कुछ पुरुषों व महिलाओं ने उनका पीछा कर मारपीट की। करीब 40-50 महिलाओं व युवकों ने उन पर हमला बोल दिया तथा पुलिस थाने से कचहरी तक 200 मीटर तक पीछा कर मारपीट करते रहे। जिससे उनके शरीर पर गंभीर चोटें लगी।

धरना देकर जताया विरोध
अभिभाषक संघ की बैठक के बाद संघ के अध्यक्ष उम्मेदसिंह राठौड़, आशाराम चाण्डक, बिलाकीदास छंगाणी, कूंपसिंह, राजकुमार व्यास, सरवरखां, फिरोजखां मेहर, हड़वंतसिंह, सत्यनारायण पुरोहित, मगनाराम विश्रोई, विशनसिंह गोदारा, शकूरखां, मजीदखां, महेश जोशी, डीपी जोशी, रामदेव छंगाणी, समंदरसिंह, रामस्वरूप गुचिया, जसवंत दैया, जेपी शर्मा, भैरुसिंह तंवर, रामदेव छंगाणी, सुखराम विश्रोई, अमरसिंह, अभिमन्यु, इस्लामदीन सहित अधिवक्ताओं ने जुलूस निकाला तथा नारेबाजी करते हुए कचहरी परिसर से पुलिस थाने पहुंचे। यहां उन्होंने पुलिस प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी व विरोध प्रदर्शन किया। अधिवक्ता थानाधिकारी माणकराम विश्रोई को हटाने, वरिष्ठ अधिवक्ता पर पुलिस के सामने जानलेवा हमला करने, आरोपितों के विरुद्ध जानलेवा हमला करने, थानाधिकारी पर भी आरोपितों को हमले के लिए प्रेरित कर उन्हें सह देने का मामला दर्ज करने की मांग को लेकर पुलिस थाने के बाहर धरने पर बैठ गए। अधिवक्ताओं ने करीब तीन घंटे तक धरना देकर विरोध जताया।

अधिवक्ताओं ने किया कार्य का बहिष्कार
अधिवक्ता भाटी के साथ मारपीट की घटना से अधिवक्ताओं में रोष व्याप्त हो गया तथा तत्काल अभिभाषक संघ की आपात बैठक बुलाकर इसकी कड़ी निंदा की गई। अधिवक्ताओं ने बताया कि वरिष्ठ अधिवक्ता भाटी को थानाधिकारी के उकसाने पर थाने में खड़े वाल्मिकी समाज के 40-50 पुरुषों व महिलाओं ने जानलेवा हमला किया। उनकी ओर से पुलिस थाने के अंदर से, जहां पुलिस अधिकारी व उनके सिपाहियों के सामने मारपीट शुरू की गई तथा काफी दूर तक आम रास्ते पर पीछा कर उनके साथ मारपीट व जानलेवा हमला किया गया। बावजूद इसके थानाधिकारी व पुलिस की ओर से उन्हें बचाने के लिए कोई कोशिश नहीं की गई। संघ ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि सोमवार को संघ कार्य का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन करेगा तथा दोषी थानाधिकारी व मारपीट के आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर धरना देगा तथा जब तक उन्हें न्याय नहीं मिलेगा, तब तक अधिवक्ताओं, स्टाम्प वैण्डर, डीड राइटर की ओर से न्यायिक कार्य का बहिष्कार किया जाएगा।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

समझाइश के बाद धरना किया समाप्त
अधिवक्ता के साथ मारपीट के बाद उनकी ओर से आंदोलन व थाने के बाहर धरना प्रदर्शन की जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक गौरव यादव के निर्देश पर नाचना पुलिस उपाधीक्षक किशनपालसिंह शेखावत पोकरण पहुंचे। उन्होंने थाने के बाहर धरना दे रहे अधिवक्ताओं के प्रतिनिधि मंडल से बातचीत की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि अधिवक्ता पर हुए जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया जाएगा, थानाधिकारी पर भी हमलावरों को हमले के लिए प्रेरित करने व उन्हें सह देने तथा आरोपितों की पहचान कर उन्हें शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। जिस पर अधिवक्ताओं ने अपना धरना समाप्त करने की घोषणा की।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned