Video Jaisalmer- गोशालाओं का करोड़ों का भुगतान अटका

-संचालक बता रहे पीड़ा - देनदारियां चुकाने में आ रहा पसीना
-प्रशासन का तर्क -चल रही भुगतान की प्रक्रिया

By: jitendra changani

Published: 07 Sep 2017, 11:14 AM IST

जैसलमेर . अकाल अवधि में गोवंश संरक्षण के लिए गोशालाओं को दिया जाने वाला भुगतान अटक गया है। बताया जा रहा है कि जिले में संचालित गोशालाओं के करीब 13 करोड़ रुपए का भुगतान राज्य सरकार के आपदा व सहायता विभाग में बकाया चल रहा है।गोशाला संचालकों की पीड़ा है कि अकाल के दौरान उनकी ओर से सरकार से मिलने वाली सहायता के भरोसे गोवंंश संरक्षण का काम किया था, लेकिन अब तक भुगतान नहीं होने से बाजार की देनदारियां चुकाने में उनके पसीने छूट रहे हैं। उधर, प्रशासन का कहना है कि भुगतान की प्रक्रिया चल रही है और शीघ्र कर दिया जाएगा।
यूं दिया गया था अनुदान
-अकाल की घड़ी में गोवंश को बचाने के लिए आपदा व सहायता विभाग ने स्वीकृत किया था अनुदान
-बेसहारा बड़े गोवंश के लिए प्रतिदिन 70 और छोटे के लिए 35 रुपए दिए जाने का था प्रावधान
-यह राशि गत 16 मई से 15 जुलाई तक के लिए दी गई। बाद में बरसाती सीजन प्रारंभ होने के चलते अकाल राहत गतिविधियां बंद कर दी गई।
-दो माह की अवधि के दौरान जिले में करीब 40 हजार गोवंश का संरक्षण गोशालाओं में किया गया।

 

कैमरों का भुगतान अटका
अकाल राहत गतिविधियों के संचालन के दौरान जून माह में सरकार ने निर्देश जारी किए थे कि, जिस गोशाला में सीसी टीवी कैमरे लगे होंगे और जो अनुदान राशि के भुगतान के लिए बिल के साथ फुटेज पेश करेंगे, उन्हें ही भुगतान किया जाएगा। इसके चलते गोशाला संचालकों ने हजारों बल्कि किसी-किसी ने लाख रुपए तक खर्च कर सीसी टीवी कैमरे लगवाए। खर्च की गई यह राशि भी संचालकों के गले की फांस बनी हुई है। भुगतान बिलों के साथ गोशाला के फुटेज भी संबंधित गोशाला संचालकों ने जमा करवा दिए हैं।

मंत्री को लिखे है पत्र
मूलसागर में संचालित की जा रही तुलसी गोशाला के अटके हुए भुगतान के लिए आपदा प्रबंधन मंत्री को कई पत्र लिखे हैं। अब तक एक भी बिल का भुगतान नहीं हुआ है, इससे गोशाला के संचालन में परेशानियां पेश आ रही हैं।
-मानव व्यास, अध्यक्ष, तुलसी गोवर्धन निधि संस्थान

जल्द होगा भुगतान
जिले में अकाल राहत गतिविधियों के अंतर्गत गोशालाओं में गोवंश संरक्षण संबंधी भुगतान की प्रक्रिया चल रही है। जल्द ही संबंधित गोशालाओं को भुगतान करवा दिया जाएगा।
-कैलाशचंद मीना, जिला कलक्टर, जैसलमेर

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned