Video: आयोग के अध्यक्ष ने सर्किट हाउस में की जनसुनवाई, अधिकारियों की ली बैठक

-मानवाधिकारों के लिए संवेदनशीलता से कार्य करने की दी नसीहत
-आयोग में दर्ज प्रकरणों की समीक्षा की

By: Deepak Vyas

Published: 16 Apr 2021, 12:46 PM IST

जैसलमेर. राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण व्यास ने सर्किट हाउस में अधिकारियों की बैठक ली एवं मानवाधिकारों के लिए संवेदनशीलता से कार्य करने के लिए कहा। उन्होंने प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ आयोग में दर्ज प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की एवं इस संबंध में की गई कार्यवाही की जानकारी लेते हुए आयोग में दर्ज प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारण करने पर जोर दिया। आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि आज वैश्वीकरण का युग है तथा सूचना प्रोद्योगिकी के प्रचार-प्रसार के कारण प्रत्येक व्यक्ति अपने मानव अधिकारों को लेकर जागरूक है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारें मानव अधिकारों को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है एवं आयोग भी मानवअधिकारों के संरक्षण के प्रति तत्पर है। जिला कलक्टर आशीष मोदी ने राज्य मानवाधिकार आयोग में जिला प्रशासन से संबंधित दर्ज प्रकरणों के संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराया एवं कहा कि सभी प्रकरणों में प्राथमिकता से कार्यवाही की जाएगी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा ने आयोग में पुलिस विभाग से संबंधित दर्ज प्रकरणों की जानकारी दी एवं बताया कि इसमें कार्यवाही गंभीरता से की जा रही है। इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर हरिसिंह मीना, रजिस्ट्रार ओमी पुरोहितए उपखण्ड अधिकारी रमेश सीरवी के साथ ही अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
परिवादियों को संवेदनशीलता से सुना
आयोग के अध्यक्ष व्यास ने सर्किट हाउस में जनसुनवाई के दौरान परिवादियों की संवेदनशीलता के साथ परिवेदनाएं सुनी एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनसुनवाई के दौरान परिवादी सरोज के मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि उन्हें परेशान करने वाले लोगों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करें। उन्होंने परिवादी संतोष के मामले में शिक्षा विभाग के अधिकारी को बुलाकर इसकी योग्यता एवं कार्य को देखते हुए प्लेसमेंट के माध्यम से पुन: संविदा पर लगाने की बात कही।
जनसुनवाई के दौरान परिवादी चनिया के मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि वे इसके साथ अपराध करने वाले जो दोषी अभी गिरफ्तार नहीं हुए है, उन्हें तत्काल गिरफ्तार करने की कार्यवाही करें।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned