Video: तेज बारिश से पानी से घिरी ढाणियां, जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त

तेज बारिश से पानी से घिरी ढाणियां, जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त

By: Deepak Vyas

Published: 22 Sep 2021, 08:28 PM IST

जैसलमेर/पोकरण . क्षेत्र में मंगलवार रात ग्रामीण क्षेत्रों में इन्द्रदेव मेहरबान हुए तथा तेज बारिश का दौर चला। पोकरण कस्बे के साथ आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग सभी जगहों पर तेज बारिश हुई। क्षेत्र के रामदेवरा, एकां, सूजासर, सरणायत, राजमथाई, बांधेवा, फलसूण्ड आदि क्षेत्रों में तेज बारिश के समाचार मिले है। बारिश के कारण एकां ग्राम पंचायत के सरणायत गांव में कई ढाणियां पानी से घिर गई। जिससे आमजन को परेशानी हुई। सरणायत गांव की कई ढाणियों में बुधवार को सुबह पानी तेज आवक हुई। इन ढाणियों में एक से दो फीट तक पानी जमा हो गया तथा घरों के अंदर पानी घुस गया। जिससे घरों में रखा सामान खराब हो गया तथा ग्रामीणों को परेशानी से रूबरू होना पड़ा। सूजासर से सरणायत जाने वाले मार्ग के पूर्व की तरफ पानी जमा हो गया। जिससे ढाणियों का मुख्य सड़क से संपर्क कट गया। जिससे आमजन का बेहाल हो गया। घरों में घुसे पानी को निकालने के लिए लोगों को खासी मशक्कत करनी पड़ी। इसी प्रकार बुधवार की शाम फिर तेज बारिश का दौर चला। जिससे पानी की आवक बढ़ गई और लोग सहम गए।
जेसीबी से निकाला पानी
सरणायत गांव के आसपास जलभराव की सूचना मिलने पर बुधवार को सुबह सरपंच मोहनकंवर ने क्षेत्र का दौरा कर जायजा लिया। इसी प्रकार समाजसेवी सुरेन्द्रसिंह भाटी, तकनीकी सहायक पुरखाराम जयपाल, चुतरसिंह भाटी आदि ने मौका मुआयना किया। इसके बाद ग्राम पंचायत की ओर से जेसीबी लगवाकर पानी निकासी की व्यवस्था की। दोपहर तक जल स्तर कम होने पर ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। बुधवार की शाम तेज बारिश से पुन: जल स्तर बढ़ा, लेकिन निकासी की उचित व्यवस्था होने से लोगों को राहत मिली।
सुरक्षित स्थानों पर करेंगे व्यवस्था
सरणायत में फिलहाल पानी निकासी की व्यवस्था कर दी गई है। यदि तेज बारिश होती है और जल स्तर पुन: बढ़ता है, तो सरणायत के प्रभावित लोगों को विद्यालय भवन अथवा अन्य सुरक्षित स्थानों पर भेजने की व्यवस्था की जाएगी।
- मोहनकंवर, सरपंच ग्राम पंचायत, एकां।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned