नाचना गांव में सफल रहा स्वैच्छिक लॉकडाउन

नाचना. गांव में पहले दिन स्वैच्छिक लॉकडाउन सफल रहा। गांव के खाद्य पदार्थ व्यापार संघ की ओर से दो दिन के स्वैच्छिक लॉकडाउन के निर्णय के दौरान शुक्रवार को पहले दिन दवाइयां, सब्जी, दूध डेयरी की दुकानें तथा इक्की-दुक्की होटलों के अलावा सभी छोटी बड़ी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रही। जिससे दिनभर बाजारों में सन्नाटा पसरा नजर आया।

By: Deepak Vyas

Published: 17 Oct 2020, 03:08 PM IST

नाचना. गांव में पहले दिन स्वैच्छिक लॉकडाउन सफल रहा। गांव के खाद्य पदार्थ व्यापार संघ की ओर से दो दिन के स्वैच्छिक लॉकडाउन के निर्णय के दौरान शुक्रवार को पहले दिन दवाइयां, सब्जी, दूध डेयरी की दुकानें तथा इक्की-दुक्की होटलों के अलावा सभी छोटी बड़ी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रही। जिससे दिनभर बाजारों में सन्नाटा पसरा नजर आया। आवश्यक वस्तुओं की खरीद करने खेतों व ढाणियों से आए लोगों को बिना सामान लिए खाली हाथ लौटना पड़ा। जिससे उन्हें परेशानी हुई। गौरतलब है कि गांव में दो दिन पूर्व एक साथ 14 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिससे ग्रामीणें में हड़कंप मच गया। बढ़ते कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए युवाओं की ओर से पहल करते हुए दो दिन स्वैच्छिक लॉकडाउन रखने का आग्रह किया गया। इस संबंध में खाद्य पदार्थ व्यापार संघ ने सभी छोटे बड़े व्यापारियों से संपर्क कर बाजार बंद रखने की चर्चा की। जिस पर शुक्रवार व शनिवार को दो दिन तक अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का निर्णय लिया गया। गुरुवार शाम इसकी सूचना व्यापार संघ के अध्यक्ष जगदीशप्रसाद टावरी के नेतृत्व में व्यापारियों ने पुलिस थाने में दी।
सुबह से नहीं खुले ताले
गांव में शुक्रवार को सुबह से ही व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों के ताले तक नहीं खोले। जिससे गांव में सन्नाटा पसरा नजर आया। व्यापार संघ के अनुसार शनिवार को भी गांव में स्वैच्छिक लॉकडाउन जारी रहेगा। शुक्रवार को ग्रामीणों ने घरों में ही रुककर विश्राम किया। जिससे बाजार सूने पड़े रहे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned