JAISALMER NEWS- अस्पताल जाने के रास्ते पर जमीन में धंसते है पैर, जानिए क्या है इसका कारण

कच्चे व रेतीले मार्ग से परेशानी

By: jitendra changani

Published: 27 Mar 2018, 11:21 AM IST

जैसलमेर. सरहदी जैसलमेर जिले के लाठी गांव के सरकारी अस्पताल तक पैदल पहुंचना ग्रामीणों के लिए टेढ़ी खीर बनता जा रहा है। हालात यह है कि गांव से कुछ दूरी पर स्थित अस्पताल तक पहुंचने के लिए ग्रामीणों को रेतीले मार्ग से होकर गुजरना पड़ता है। ऐसे में आर्थिक रुप से कमजोर परिवार जिनके पास कोई साधन नहीं है, उन्हें पैदल ही अस्पताल जाना होता है। बीमारी की हालात में अस्पताल तक पहुंचना उनके लिए इतना मुश्किल हो जाता है कि उनके लिए यहां पहुंचना किसी संघर्ष से कम नहीं रहता।
नहीं बनी हुई है सडक़
जानकारों की माने तो गांव से अस्पताल तक सडक़ नहीं होने से लोगों को कच्चे रास्ते को पार कर अस्पताल जाना पड़ता है। कच्चा रास्ता भी ऐसा कि यहां ना मुडिया रोड है और न ही तली जमाई हुई। ऐसे में पूरा रास्ता रेत के धोरों की पगडंडी बनी हुई है। जिससे यहां चलने पर पैर जमीन में धंसते है। जिससे चलने में बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

डेढ़ सौ मीटर तक रेतीला मार्ग
ग्रामीणों के अनुसार लाठी गांव के मुख्य मार्ग से सरकारी अस्ताल तक करीब डेढ़ सौ मीटर तक रेतीला मार्ग है, जहां से रोगियों को पहुंचने के लिए इतना लंबा रास्ता तय करना होता है।
पशु चिकित्सालय के यही हालात
जानकारों के अनुसार लाठी में स्थापित पशु चिकित्सालय भी रेतीले रास्तों से होकर गुजरता है। मुख्य सडक़ से पशु चिकित्सालय करीब सौ मीटर की दूरी पर स्थित है। ऐसे में पशुपालकों को पशुओं के उपचार के लिए यहां पहुंचने में दिक्कत आती है।

कच्चे व रेतीले मार्ग से परेशानी

लाठी गांव में पशु चिकित्सालय व आदर्श राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जाने वाला मार्ग कच्चा व रेतीला होने के कारण आमजन को परेशानी हो रही है। गौरतलब है कि पशु चिकित्सालय व राजकीय अस्पताल तक प्रतिदिन सैंकड़ों मरीज व पशुपालक जाते हैं। मुख्य मार्ग से पशु चिकित्सालय की दूरी 100 मीटर व राजकीय अस्पताल की दूरी डेढ़ सौ मीटर है। यहां जाने का रास्ता कच्चा व रेतीला है। इसके चलते मरीजों, पशुपालकों व ग्रामीणों को आवागमन में परेशानी हो रही है। ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को एक ज्ञापन प्रेषित कर पक्की सडक़ बनवाने की मांग की है।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned