वृद्ध की मौत से भय: प्रशासन का तर्क, दो बार जांच में नेगेटिव था व नहीं हुई कोरोना से मौत

-मृतक का कोरोना संक्रमित होने पर हो रहा था उपचार

By: Deepak Vyas

Updated: 18 Apr 2020, 08:17 PM IST

जैसलमेर/पोकरण. कस्बे के एक व्यक्ति की जोधपुर में उपचार के दौरान मौत हो जाने से स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया। पूर्व में आए कोरोना संक्रमितों में से 82 वर्षीय एक वृद्ध, जिसकी जांच नेगेटिव आ चुकी है, उसे जोधपुर मथुरादास माथुर अस्पताल के सामान्य वार्ड में भर्ती किया गया था। हालांकि उसके कोरोना का उपचार पूर्ण हो चुका है, लेकिन अन्य बीमारी के कारण उसकी तबीयत बिगड़ गई। शनिवार सुबह उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। उसकी मौत के समाचार पोकरण में मिले, तो हर कोई स्तब्ध रह गया। कोरोना से मौत की अफवाह से आमजन में भय व दहशत का माहौल हो गया। जब लोगों को कोरोना की बजाय अन्य बीमारी से मौत की सूचना मिली, तो लोगों ने राहत की सांस ली।
गौरतलब है कि विश्वभर में कोरोना वायरस संक्रमण फैला हुआ है। पोकरण में भी वायरस की दस्तक हो चुकी है। कस्बे के वार्ड संख्या एक, सात व आठ के 31 जने संक्रमित पाए गए है, जिनका जोधपुर में उपचार चल रहा है। वृद्ध की मौत के संबंध में जिला कलक्टर नमित मेहता का कहना है कि मरीज की पॉजिटिव होने के बाद दो बार जांच नेगेटिव आई थी। संभवत: कोरोना की जगह किसी अन्य बीमारी से उसकी मौत हुई है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned