JAISALMER NEWS- जैसलमेर के इन गांवों में जलापूर्ति बाधित, गर्मी में बेहाल

गर्मी में सूख रहे कंठ, कहां से करें जुगाड़

By: jitendra changani

Published: 25 Mar 2018, 09:52 PM IST

पाइपलाइनें टूट जाने से दो दिन तक जलापूर्ति रहेगी बंद
पोकरण (जैसलमेर). कस्बे में नगरपालिका की ओर से विभिन्न मोहल्लों में लगाई जा रही सीवरेज लाइन के कारण जगह-जगह जलदाय विभाग पाइपलाइन टूट जाने से आगामी दो दिन तक जलापूर्ति बाधित रहेगी। कनिष्ठ अभियंता रमेशचंद्र माथुर ने बताया कि नगरपालिका की ओर से लगाई जा रही सीवरेज लाइन के दौरान जेसीबी मशीन से सरकारी अस्पताल के पीछे तीन, चार व छह इंच की अलग-अलग पाइपलाइनें तोड़ दी गई है। जिससे सेवक प्रथम व सेवक द्वितीय की जलापूर्ति दो दिन तक बंद रहेगी। इसी प्रकार उन्होंने बताया कि सैनिक विश्राम गृह व दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी में भी छह इंच की पाइपलाइन तोड़ दी गई है। जिससे भवानीपुरा, माधोपुरा व दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी के आसपास क्षेत्र में जलापूर्ति बंद रहेगी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में सीवरेज लाइन लगाने का कार्य कर रहे ठेकेदार को पाइपलाइन की मरम्मत के लिए लिखा गया है। यदि उसकी ओर से मरम्मत नहीं की गई है, तो उसके विरुद्ध मामला दर्ज करवाया जाएगा।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

नलकूप खराब, जलापूर्ति बंद, ग्रामीण परेशान
लाठी. गांव में गत 10 दिनों से पेयजल आपूर्ति ठप होने से ग्रामीणों को पेयजल संकट से रूबरू होना पड़ रहा है। गांव में जलदाय विभाग की ओर से नलकूप खुदवाया गया है। यह नलकूप गत 10 दिनों से खराब है। जिसके चलते ईदगाह के पास स्थित जीएलआर में जलापूर्ति बंद है। इसके अलावा मुस्लिम पाड़ा, दर्जी पाड़ा, मेघवंशी पाड़े में भी जलापूर्ति ठप है। इसके चलेत ग्रामीणों को ट्रैक्टर टंकियों से पानी खरीदना पड़ रहा है, तो मवेशी पानी के लिए भटक रहे हैं। गर्मी के मौसम में गहराए पेयजल संकट से आमजन को परेशानी हो रही है। गांव के जमालदीन, बगदादखां, कुण्डेखां, लतीफखां सहित ग्रामीणों ने जलदाय विभागाधिकारियों को ज्ञापन प्रेषित कर नलकूप को ठीक करवाने व जलापूर्ति सुचारू करने की मांग की है।

 

गोमट में पहली बार पहुंचा हिमालय का पानी
पोकरण. क्षेत्र के गोमट गांव में शनिवार को पहली बार हिमालय का पानी पहुंचा। जिससे गांव में लगाई गई पाइपलाइनों के माध्यम से घरों में जलापूर्ति शुरू की गई। ग्राम पंचायत के सरपंच मंजूरदीन मेहर ने बताया कि पोकरण-फलसूण्ड पेयजल लिफ्ट परियोजना के अंतर्गत रामदेवरा से पाइपलाइन लगाकर गोमट गांव को जोड़ा गया है। शनिवार को इस पाइपलाइन के माध्यम से पहली बार जलापूर्ति की गई। जिससे गोमट में हिमालय का मीठा व शुद्ध पानी पहुंचा तथा ग्रामीणों में खुशी की लहर छा गई। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्वच्छ जलाशय का कार्य अधूरा है। इसलिए पूर्व में निर्मित जीएलआरों में पानी एकत्र कर पाइपलाइनों के माध्यम से गांव में जलापूर्ति शुरू की गई है।

 

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

अधिक जलप्रवाह से क्षतिग्रस्त हुई वितरिका
नोख. ग्राम पंचायत जालूवाला के रायचंदवाला क्षेत्र की वितरिका अधिक जलप्रवाह के कारण क्षतिग्रस्त हो गई। जिससे पानी घंटों तक व्यर्थ बहता रहा। शनिवार को सुबह मुख्य नहर से रायचंदवाला वितरिका के लिए इन्दिरा गांधी नहर से पानी खोला गया। अधिक पानी प्रवाह के कारण 29 आरडी वितरिका टूट गई। वितरिका के टूट जाने के कारण पानी व्यर्थ बहने लगा तथा खेतों में जमा हो गया। गौरतलब है कि इन दिनों फसल कटाई का कार्य चल रहा है। खेतों में अचानक पानी भर जाने से काटकर डाली गई फसल भी खराब हो गई। इन्दिरा गांधी नहर विभाग के अधिशासी अभियंता गोविंदसिंह ने बताया कि अंतिम दौर में मुख्य नहर से सभी माइनरों व वितरिकाओं में पानी छोड़ा गया था। पानी के अधिक भार के चलते रायचंदवाला वितरिका क्षतिग्रस्त हो गई।जिसकी जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि रविवार तक इस वितरिका की मरम्मत कर दी जाएगी।

jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned