25 मार्च से 2 जून तक सिंचाई कार्य के लिए नहर में नहीं चलेगा पानी

...तो नहरबंदी से नहीं होगी पीने के पानी की किल्लत
- 70 में से 30 दिन होगी पूर्ण बंदी

By: Deepak Vyas

Updated: 19 Mar 2020, 08:54 PM IST

जैसलमेर. भीषण गर्मी के मौसम में इंदिरा गांधी नहर में 25 मार्च से 2 जून तक चलने वाली नहरबंदी से सीमावर्ती जैसलमेर जिले में पेयजल की आपूॢत के लडखड़़ाने की आशंकाओं को जिम्मेदारों ने दरकिनार किया है। जिम्मेदारों की मानें तो इस अवधि में जैसलमेर शहर सहित जिले के ग्रामीण अंचलों में पीने के पानी की समस्या नहीं होगी। गौरतलब है कि इन्दिरा गांधी फीडर (पंजाब भाग व राजस्थान भाग) व इन्दिरा गांधी मुख्य नहर में रि-लाइनिंग कार्य करवाए जाने के लिए 25 मार्च से 2 जून तक दिवस की नहरबंदी की जाएगी। इससे पहले नहर परियोजना बीकानेर के मुख्य अभियंता के अनुसार 23 मार्च को नहरों में पूर्ण क्षमता से पीने के लिए पानी प्रवाहित होगा। उन्होंने सभी काश्तकारों, जनसाधाराण व सभी संबंधित विभागों से आह्वान किया है कि नहरबंदी के मद्देनजर पीने और अन्य कार्यों के लिए पानी का समुचित भंडारण कर लिया जाना सुनिश्चित करें। यहां यह गौरतलब है कि 26 मार्च से 3 मई तक इन्दिरा गांधी फीडर के राजस्थान भाग तथा इन्दिरा गांधी मुख्य नहर में आंशिक नहरबंदी होगी। जिसमें नहरों में आश्यकतानुसार पीने के लिए पानी प्रवाहित किया जाएगा और नहरों को वरीयता या आश्यकतानुसार पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। मुख्य अभियंता के अनुसार आगामी 4 मई से 2 जून तक 30 दिनों के लिए पूर्ण नहरबंदी रहेगी। जिसमें नहर प्रणाली की समस्त नहरें बंद रहेंगी। काश्तकारों से भी कहा गया कि 23 मार्च से 3 मई तक नहरों में केवल पीने के लिए पानी चलाया जाएगा तथा सिंचाई के लिए उपयोग नहीं किया जा सकेगा।
जिले में पर्याप्त संग्रहण के बंदोबस्त
जानकारी के अनुसार नहरबंदी के मद्देनजर जैसलमेर जिले में जलदाय महकमे की ओर से जल संग्रहण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। बाड़मेर लिफ्ट परियोजना के मोहनगढ़ स्थित हैडवक्र्स स्थित डिग्गी की पूर्ण क्षमता जैसलमेर तथा बाड़मेर शहरों के साथ करीब 250 गांवों को एक माह तक जलापूर्ति करने की है। परियोजना खंड प्रथम के अधिशासी अभियंता आरके शर्मा ने बताया कि 7 मीटर गहरी इस डिग्गी में वर्तमान में 6.5 मीटर तक पानी भरा है। आगामी दिनों में इसे पूर्ण क्षमता के साथ भर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद भी नहरों में पीने के लिए पानी मिलता रहेगा। अंतिम 30 दिनों में जब नहरों में बिलकुल पानी नहीं मिलेगा, तब यह हैडवक्र्स की डिग्गी लोगों की प्यास बुझाने के काम आएगी। वैसे जलदाय विभाग की ओर से संबंधित क्षेत्रों में 21 दिन जलापूर्ति के लिए संग्रहण क्षमता रखी गई है। इन डिग्गियों में नहरबंदी के अंतिम दिनों के दौरान संबंधित नहरों में जल संग्रहण कर भरने की व्यवस्था की जाएगी।

फैक्ट फाइल -
- 70 दिन की कुल नहरबंदी
- 30 दिन पूर्णतया बंद रहेगा पानी
- 7.50 लाख से ज्यादा जिले की आबादी
- 35 लाख से ज्यादा पशुधन

हरसंभव प्रयास
जैसलमेर शहर के बाशिंदों को नहरबंदी तथा गर्मी के मौसम में पेयजल की कमी नहीं हो, इसके लिए हरसंभव उपाय अमल में लाए जा रहे हैं।
- हरिवल्लभ कल्ला, सभापति, नगरपरिषद जैसलमेर

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned