JAISALMER NEWS- किनकी लापरवाही से सरकार के लाखों रुपये हो गए मिट्टी?

By: jitendra changani

Published: 10 Mar 2018, 05:37 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/3

पोकरण कस्बे के रामदेव कॉलोनी में क्षतिग्रस्त पड़ा नाला।

रामदेव कॉलोनी में लाखों रुपए खर्च कर हुए थे विकास कार्य
पोकरण. कस्बे में नगरपालिका की ओर से करीब 15 वर्ष पूर्व इंटरगेटिव डवलपमेंट ऑफ स्मॉल एंड मीडियम टॉऊन (आईडीएसएमटी) योजना के अंतर्गत काटी गई कॉलोनी के विकास पर लाखों रुपए खर्च होने के बाद भी उसका उपयोग नहीं हो सका है। जिसके चलते यहां बिजली, सडक़ों, नालों व पुलियों के निर्माण पर खर्च की गई लाखों रुपए की धनराशि व्यर्थ होती दिखाई दे रही है। जानकारी के अनुसार करीब 15 वर्ष पूर्व नगरपालिका की ओर से कस्बे के रामदेवरा मार्ग पर आईडीएसएमटी योजना के अंतर्गत रामदेव कॉलोनी के नाम से भूखण्ड आवंटित करने व उसे विकसित करने के लिए निर्णय लिया गया था। जिसके अंतर्गत 500 से अधिक व्यवसायिक व आवासीय भूखण्ड काटकर एक नई कॉलोनी को विकसित करने की योजना बनाई गई थी, लेकिन लाखों रुपए खर्च करने के 15 वर्ष बाद भी इस कॉलोनी में अब तक आबादी विस्तार नहीं हो सका है। जिसके चलते यहां खर्च की गई लाखों रुपए की धनराशि बर्बाद होकर रह गई।
यह है हकीकत
कॉलोनी में अब तक एक भी आवास नहीं बना है, न ही यहां 15 वर्षों में एक भी व्यक्ति की ओर से निवास किया जा रहा है। बावजूद इसके इस कॉलोनी पर नगरपालिका की ओर से तीन चरणों में लाखों रुपए की धनराशि खर्च कर दी गई है। जिसके उपयोग का दूर-दूर तक अता पता नहीं है। कॉलोनी के विकास को लेकर प्रथम चरण के अंतर्गत यहां कच्ची व कंकरीट सडक़ों का निर्माण करवाकर करीब डेढ सौ से अधिक विद्युत पोल व उन पर विद्युत तार लगाए गए थे। इसी तरह इस कॉलोनी में दो-तीन बड़े नालों व उन पर करीब आधा दर्जन बड़े-बड़े पुलियों का निर्माण भी करवाया गया था। जिस पर योजना के अंतर्गत 15 वर्ष पूर्व करीब 22 लाख रुपए की धनराशि खर्च की गई थी। कॉलोनी आबाद नहीं होने के कारण सडक़, नाले, पुलियों व विद्युत व्यवस्था का एक बार भी उपयोग नहीं हो सका है। कॉलोनी के विकास के द्वितीय चरण में यहां पांच वर्ष पूर्व सार्वजनिक उद्यानों की चारदीवारी का निर्माण करवाया गया, लेकिन इन उद्यानों में न तो एक भी पेड़ लगाया गया है, न ही यहां कहीं हरियाली का नामोनिशान दिखाई दे रहा है। लावारिस हालात में पड़ी चारदीवारी जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होती जा रही है। इसी कॉलोनी में नगरपालिका की ओर से तृतीय चरण के अंतर्गत गत चार वर्ष पूर्व बिना उपयोग के ही क्षतिग्रस्त हुए नालों व उद्यानों की चारदीवारी की मरम्मत पर पुन: हजारों रुपए की धनराशि खर्च की गई। कॉलोनी में करवाए गए विकास कार्य बिना उपयोग के ही ध्वस्त होते जा रहे है। दूसरी तरफ समय-समय पर उनकी मरम्मत पर भी धनराशि खर्च की जा रही है।

पहले भूखण्ड आवंटन, फिर कार्य
रामदेव कॉलोनी में आवासीय भूखण्डों का आवंटन प्रस्तावित है। इसके लिए लोगों की ओर से आवेदन पत्र भी जमा करवाए गए है। भूखण्ड आवंटन के बाद कॉलोनी में विकास कार्य किए जाएंगे।
-जोधाराम विश्रोई, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका, पोकरण।
फैक्ट फाइल:-
- 15 वर्ष पूर्व काटी गई थी रामदेव कॉलोनी
- 600 से अधिक भूखण्ड है कॉलोनी में
- 30 लाख रुपए अब तक किए गए खर्च
- 3 चरणों में किए गए विकास कार्य
- 1 दर्जन कंकरीट सडक़ों का किया निर्माण
- 150 विद्युत पोल लगे है कॉलोनी में
- 6 पुलियों का करवाया गया है निर्माण
- 4 बड़े नाले निर्मित है कॉलोनी में
- 4 सार्वजनिक उद्यान कॉलोनी में है स्थित

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned