JAISALMER NEWS- राजस्थान के इस गांव में तेज हवा के साथ यहां निकलती है चिंगारी, हादसे से भयभीत जनता बेचारी

ट्रांसफार्मर बना हादसे का सबब

By: jitendra changani

Published: 25 Mar 2018, 05:57 PM IST

चाधन (जैसलमेर). स्थानीय पशु अनुसंधान केंद्र के आगे लगा विद्युत ट्रांसफार्मर हादसे का सबब बना हुआ है। यहां ट्रांसफार्मर लोहे के पोल पर लगा होने के कारण हर समय बड़ी घटना की संभावना रहती है। हाईवे विस्तार व नवीनीकरण के कारण कस्बे में पानी निकासी के लिए नाला निर्माण किया गया। इस दौरान ट्रांसफार्मर हटाने की बजाय नाले को ही घुमावदार कर दिया। नाले से ट्रांसफार्मर के पोल सटे होने से करंट फैलने की संभावना रहती है।
ट्रांसफार्मर के पोल से दो बार विद्युत लाइन टूट चुकी है। पशु अनुसंधान केन्द्र मेेें पेयजल आपूर्ति के लिए बने नलकूप के लिए इसी ट्रांसफार्मर से लाइन ली हुई है। यह दो दिन में दो बार लाइन टूट चुकी है। ऐसे में पेयजल आपूर्ति बाधित हो रही हैं।
नहीं हो रही सुनवाई
पशु अनुसंधान केन्द्र के कर्मचारी व ग्रामीणों ने विद्युत विभाग से ट्रांसफार्मर को चारदीवारी के अन्दर लेने की मांग की गई, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है। ग्रामीणों का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग, पशु अनुसंधान केन्द्र व आबादी क्षेत्र होने के कारण कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

 

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

जलवायु परिवर्तन को लेकर कार्यशाला
जैसलमेर . गीता आश्रम में शनिवार को संस्था सिकोइडिकोन की ओर से सतत विकास लक्ष्य एवं जलवायु परिवर्तन विषय पर कार्यशाला हुई। संस्था के गोविन्द नारायण विजय ने विभिन्न कार्यक्रमों के बारे में बताया। संस्था सहनिदेशक ऋतु तिवारी ने विभिन्न आयामों पर्यावरण, जल प्रबंधन, शिक्षा, स्वास्थ्य, लैंगिक समानता, गरीबी उन्मूलन आदि के बारे में बताया।
संस्था के रामकिशन मीणा ने चाइल्ड लाइन जैसलमेर के प्रयासों की जानकारी दी। शाखाप्रभारी रामगोपाल बेनीवाल धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यशाला में किसान सेवा समिति अध्यक्ष आमसिंह कीता, सचिव तेजसिंह व भजनसिंह ने भागीदारी निभाई। संस्था सिकोइडिकोन से अनुराधा शर्मा, अजय व्यास, रविन्द्रसिंह, महेंद्र सुथार, दिपक कुमार ने भाग लिया।

चारागाह भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग
मदासर (पोकरण). ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन प्रेषित कर ग्राम पंचायत के विकास कार्यों की जांच करवाने व चारागाह भूमि पर किए अतिक्रमण हटाने की मांग की है। ग्रामीणों ने बताया कि भू-माफियाओं की ओर से रसूखदारों की सह पर गांव की चारागाह भूमि पर अतिक्रमण किया गया है। नाचना उपनिवेशन तहसीलदार की ओर से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए, लेकिन अभी तक अतिक्रमण हटाने को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों ने यहां किए गए अतिक्रमण को हटाने व विकास कार्यों की जांच करवाने की मांग की है।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned