JAISALMER NEWS- आक्रोश रैली के बाद कमजोरी की खुली पोल, इन्टरनेट सेवा बंद कर डाल रहे पर्दा

- जैसलमेर में दूसरे दिन भी इन्टरनेट सेवा बंद

By: jitendra changani

Published: 03 Apr 2018, 10:31 PM IST

जैसलमेर. एसएसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में हुई हिंसात्मक वारदात के बाद बंद हुई इंटरनेट सेवाएं दूसरे दिन भी शुरू नहीं हो पाई। जिससे सरकार की कानून और जिम्मेदारी के प्रति कमजोरी एक बार फिर सामने आ गई है। गौरतलब है कि जैसलमेर में सोमवार को भारत बंद के दौरान निकाली गई आक्रोश रैली में छिटपुट वारदातें हो गई थी। दुकानों में तोडफ़ोड़, पथराव और मारपीट की घटनाओं के कारण आमजन में इन घटनाओं के प्रति रोष व्याप्त हो गया था। जिसके बाद शाम करीब पांच बजे इन्टरनेट सेवा को बंद कर दिया गया, जो मंगलवार को देर रात तक नेट सेवा बंद थी। जानकारों के अनुसार इन्टरनेट सेवा को अनिश्चितकाल के लिए बंद किया गया है। उनके अनुसार सोशल मीडिया पर भ्रामक अफवाहों पर विराम लगाने के लिए जोधपुर के पूरे संभाग में इन्टरनेट सेवा बंद की गई है।
ब्राडबेंड सेवा पर नहीं असर
जैसलमेर में ब्राडबैंड और लीज लाइन से जुड़े लोगों को इन्टरनेट की सुविधा पर कोई फर्क नहीं पड़ा, जिससे इन उपभोक्ताओं को अधिक परेशानी नहीं हुई। हालांकि सोशल मीडिया से जुड़ी साइटों की रफ्तार कुछ धीमी रही, लेकिन बाकी की साइटों पर सामान्य स्थिति रही।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

मोबाइल इन्टरनेट सेवा बंद
जैसलमेर जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलों में दो दिनों से मोबाइल इन्टरनेट सेवा बंद रही। जिससे सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले वाले लोगों को टाइम पास करने में दुविधा हुई। वहीं मोबाइल नेटवर्क के माध्यम से ई-मित्र व अन्य इन्टरनेट सेवाओं का उपयोग करने वालों का कारोबार ठप रहा। इससे उनकी आमदनी पर असर पड़ा।
जैसलमेर में रही शांति
अक्रोश रैली के बाद से जैसलमेर में शांति व्यवस्था रही। रैली में पोकरण को छोड़ दिया जाए तो कहीं भी बड़ी वारदात नहीं हुई। जैसलमेर शहर में छिटपुट घटनाओं के बाद से शांति है। मंगलवार को भी दिनभर शांति रही। हालांकि लोगों में रैली में हुए उपद्रव को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म रहा और इस प्रकार की वारदात को देश और समाज के लिए खतरनाक बताया गया। सभी पक्षों ने रैली के दौरान हुए उपद्रवों की निंदा करते हुए ऐसी घटनाओं को शर्मनाक बताया और शांतिपूर्ण प्रदर्शन को जायज बताया।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned