इस राज्य में सरकारी स्कूलों की फीस माफ

पंजाब में सरकारी स्कूल शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए कोई भी दाखि़ला फीस, पुन: दाखि़ला या ट्यूशन फीस नहीं लेंगे
ओपन स्कूलों के 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को 11वीं कक्षा में अस्थाई दाखि़ला मिलेगा, इम्तिहान बाद में देने होंगे

By: Bhanu Pratap

Published: 26 Jul 2020, 05:47 PM IST

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज ऐलान किया कि कोविड संकट के कारण राज्य में सरकारी स्कूल शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए विद्यार्थियों से कोई भी दाखि़ला फीस, पुन: दाखि़ला और ट्यूशन फीस नहीं लेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जहाँ तक निजी स्कूलों के फीस लेने का सम्बन्ध है, राज्य सरकार पहले ही अदालत में जा चुकी है, परन्तु सरकारी स्कूलों द्वारा पूरे साल के लिए कोई भी फीस नहीं ली जाएगी।

10वीं कक्षा के लिए विशेष व्यवस्था
मुख्यमंत्री द्वारा ओपन स्कूल प्रणाली के अंतर्गत 10वीं कक्षा के 31000 विद्यार्थियों के लिए 11वीं कक्षा में अस्थाई दाखि़ले का भी ऐलान किया गया, जो आंतरिक मूल्यांकन की व्यवस्था न होने के कारण इस आधार पर कोविड संकट के दरमियान प्रोमोट नहीं हो सके। उन्होंने कहा कि यह यकीनी बनाने के लिए कि इनके भविष्य पर बुरा प्रभाव न हो, राज्य सरकार द्वारा इन विद्यार्थियों को 11वीं कक्षा में अस्थाई दाखि़ले की आज्ञा देने का फ़ैसला लिया गया है, परन्तु हालात आम जैसे होने पर इनके लिए परीक्षाएं देना ज़रूरी होंगी। 12वीं कक्षा में 98 फीसदी अंक हासिल करने वाले 335 विद्यार्थियों के लिए प्रति विद्यार्थी 5100 रुपए के नकद इनाम का भी ऐलान किया।

सरकारी स्कूलों में 13 फीसदी वृद्धि
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बताया कि इस साल सरकारी स्कूलों के दाखि़लों में 13 फीसदी की वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सब उनकी सरकार द्वारा स्कूली शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए उठाए गए कदमों के स्वरूप संभव हुआ है। उन्होंने साथ ही बताया कि स्मार्ट स्कूल बनाने के साथ-साथ अच्छे अध्यापकों की भर्ती, सरहदी क्षेत्रों के लिए विज्ञान विषय के अध्यापक उपलब्ध करवाना है और विद्यार्थियों की हाजिऱी बढ़ाने के लिए कदम उठाए गए। उन्होंने कहा कि नकल और अन्य अनुचित रुझानों को रोका गया और इन सब कदमों ने सरकारी स्कूलों के नतीजों में सुधार लाने में योगदान दिया। उन्होंने ज़ोर दिया कि भविष्य की बुनियाद को मज़बूत करने के लिए अच्छी स्कूली शिक्षा बहुत लाजि़मी है।

COVID-19
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned