पूर्व मंत्री सहित 14 प्रत्याशियों का नामांकन खारिज, जानिए इनके नाम

जालौन जिले की तीनों विधानसभा सीटों के लिए 46 उम्मीदवारों ने नामांकन किया...

By: Hariom Dwivedi

Published: 07 Feb 2017, 10:10 PM IST

जालौन. चौथे चरण के लिये होने वाले मतदान के लिये मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच की गयी। जालौन जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में पूर्व मंत्री अकबर अली सहित 14 प्रत्याशियों को प्रपत्रों की कमी के कारण रिटर्निग ऑफिसर ने निरस्त कर दिया। सबसे अधिक पर्चे माधौगढ़ विधानसभा क्षेत्र में खारिज किये गये। इस सीट से 9 प्रत्याशियों की उम्मीदवारी को खारिज किया गया है, जबकि कालपी से 4 और उरई से एक विधानसभा प्रत्याशी का पर्चा खारिज किया गया है। तीनों विधानसभा क्षेत्रों में अब तक 32 उम्मीदवारों के पर्चे सही पाये गये हैं।

माधौगढ़ क्षेत्र के रिटर्निंग आफिसर सुरेश चन्द्र सचान ने बताया कि इस सीट पर 23 प्रत्याशियों ने आवेदन किया था, जिसमें 9 प्रत्याशी जिसमें पूर्व मंत्री अकबर अली, निर्दलीय उम्मीदवार कृपाशंकर द्विवेदी उर्फ बच्चू महाराज, मेवालाल, विरह चन्द्र, रमेश प्रजापति, किन्नर नैनाबाई, देववृत सिंह, लवकुश त्रिपाठी का पर्चा निरस्त किया गया।

कालपी के रिटर्निग आफिसर संजय कुमार सिंह ने बताया कि कालपी विधानसभा क्षेत्र से 4 नामांकन पत्र निरस्त किये गये है। यहां पर निर्दली उम्मीदवार अरुण तिवारी के साथ सपा से पहले घोषित किये गये प्रत्याशी राकेश पाल, रमेश सिंह पाल और महिला उम्मीदवार रज्जो देवी का पर्चा निरस्त किया गया है। इसके अलावा उरई सुरक्षित सीट से अंजली रजक का पर्चा खारिज किया गया। अब तीनों विधानसभा क्षेत्रों से 46 उम्मीदवारों में से 32 उम्मीदवार के ही पर्चे सही पाये गये हैं। अब 9 फरवरी को ही स्पष्ट पता चल सकेगा कि कितने प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमायेंगे।

चौथे चरण के लिये 23 फरवरी को जालौन में मतदान होना है। इसके लिये 30 जनवरी से अधिसूचना जारी कर दी गयी थी, जिसके बाद से जालौन की तीनों विधान सभा सीटों (माधौगढ़, कालपी, और उरई(सु)) सीट के लिये नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गयी थी, जो 6 फरवरी तक जारी रही थी। इसमें सपा-कांग्रेस गठबन्धन के प्रत्याशियों के साथ बसपा, भाजपा और राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशियों के साथ निर्दली उम्मीदवारों ने भी अपने नामांकन पत्र दाखिल किये थे। कुल 46 प्रत्याशियों द्वारा अपने-अपने पर्चे रिटर्निंग आफिसर के पास जमा हुए थे।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned