रेवत में मैन लाइन पर अवैध कनेक्शन की भरमार, पुलिस की मौजूदगी में 35 कनेक्शन काटे

रेवत में मैन लाइन पर अवैध कनेक्शन की भरमार, पुलिस की मौजूदगी में 35 कनेक्शन काटे
35 illegal connections cut in police presence by phed officers

Dharmendra Ramawat | Updated: 21 Apr 2018, 11:20:38 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

जलदाय विभाग की मुख्य लाइन पर ग्रामीणों ने कर रखे थे अवैध कनेक्शन

जालोर. रेवत गांव स्थित जलदाय विभाग की मुख्य लाइन पर ग्रामीणों की ओर से किए गए अवैध कनैक्शनों को विभागीय टीम ने शुक्रवार को पुलिस जाब्ते की मौजूदगी में हटाया। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि जिस लाइन पर ग्रामीणों ने अवैध कनेक्शन कर रखे थे वह विभाग की मुख्य लाइन थी, जिससे केवल जीएलआर या जलाशयों तक पानी की सप्लाई की जा सकती है, लेकिन ग्रामीणों ने अपनी मनमर्जी से इस मुख्य लाइन पर अवैध कनेक्शन कर दिए। मामले का खुलासा तब हुआ जब ग्रामीणों ने कुछ ही दिन पहले जिला प्रशासन से गांव में पानी की सप्लाई नहीं होने की शिकायत दर्ज करवाई। विभागीय टीम की ओर से इसके बाद मेन लाइन की जांच करने पर सामने आया कि जो ग्रामीण शिकायत कर रहे हैं, उनके घरों पर अवैध कनेक्शन हो रखे हैं और इन कनेक्शनों के चलते मुख्य टैंक तक पानी ही नहीं पहुंच रहा था। मामले में जलदाय विभाग की ओर से पहले स्तर पर ग्रामीणों से समझाइश कर कनेक्शन हटाने के लिए निर्देशित किया गया, लेकिन ग्रामीणों ने अधिकारियों की इस बात को अनसुना कर दिया। जिसके बाद विभाग की टीम ने पुलिस जाब्ते के साथ कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को 35 से अधिक अवैध कनेक्शन काट दिए।
अभी कार्रवाई जारी रहेगी
जांच में सामने आया है कि इस मुख्य लाइन पर करीब 100 अवैध कनेक्शन है। जिससे सप्लाई प्रभावित हो रही है। नियमानुसार मुख्य लाइन पर ग्रामीण क्षेत्रों की इस योजना में मुख्य लाइन पर कनेक्शन नहीं किए जा सकते। विभाग की ओर से शेष अवैध कनेक्शन भी काटे जाएंगे।
इनका कहना
रेवत में ग्रामीणों ने पानी नहीं आने की शिकायत की थी। जिसके बाद जलदाय विभाग की मुख्य पाइप लाइन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में सामने आया कि नियम विरुद्ध विभाग की मुख्य लाइन पर अवैध कनेक्शन किए गए थे। पहले स्तर पर समझाइश के बाद भी कनेक्शन नहीं हटाने गए, जिसके बाद कार्रवाई की गई।
- जितेंद्र त्रिवेदी, सहायक अभियंता, जलदाय विभाग, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned