ऐसे हैं आंगनबाड़ी के हाल, कहीं ताला तो कहीं गिनती के बच्चे

ऐसे हैं आंगनबाड़ी के हाल, कहीं ताला तो कहीं गिनती के बच्चे
ऐसे हैं आंगनबाड़ी के हाल, कहीं ताला तो कहीं गिनती के बच्चे

Dharmendra Ramawat | Updated: 15 Dec 2018, 11:14:02 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

4 आंगनबाड़ी केंद्रों में मिले 5 बच्चे, दो पर नजर आया ताला

रिड़मलदान राव
बागोड़ा. कस्बे में शुक्रवार को महिला एंव बाल विकास की योजना में संचालित आंगनवाड़ी केन्द्रों पर बालकों की उपस्थिति व उन्हें मिलने वाली सुविधाओं की पड़ताल करने पर 4 जगहों में से दो केन्द्र पर ताले लटकते मिले ओर दो शुरु मिली, लेकिन इनमें भी एक केन्द्र में महज 5 बच्चे ही उपस्थित। वहीं सहायिका व आशा भी अनुपस्थित थी।
सरकार व महिला एंव बाल विकास विभाग की ओर विभिन्न योजना के तहत गर्भवती व धात्री महिलाओं, किशोरावस्था की बालिकाओं व नौनिहालों के लिए पूरक आहार व अन्य व्यवस्था की जा रही है, लेकिन हकीकत को टटोलने के लिए शुक्रवार सवेरे आंगनवाड़ी केन्द्रों पर अनियमितता नजर आई। उपखंड मुख्यालय से छह किमी दूर हथोड़ा नाड़ी आंगनवाड़ी केन्द्र यह टीम सवेरे साढ़े 10 बजे पहुंची तो यहां का केंद्र बंद हालत में मिला। इस दौरान नजदीक खेत से पहुंचे नरपतसिंह व एक अन्य व्यक्ति ने जानकारी करने पर आरोप लगाया है कि यहां गुरुवार को एक-दो घंटे के लिए महिलाओं के टीकाकरण में केन्द्र खुलता है और अन्य दिनों में ताला लगा रहता है। उन्होंने कहा कि महिला एवं बाल विकास की योजना में मिलने वाली सामग्री जब बच्चे ही आंगनवाड़ी नहीं आते है तो वितरण कहां से होगा, यह व्यवस्था महज कागजों में ही चल रही है।
विभागीय अनदेखी पड़ रही भारी
इसी तरह कस्बे में जैसावास सड़क मार्ग पर सरकारी अस्पताल के नजदीक आंगनवाड़ी केन्द्र खुला मिला, लेकिन बालक एक भी उपस्थित नहीं था और न ही सहायिका के अलावा अन्य कार्मिक। उपखंड कार्यालय से महज कुछ ही दूर स्थित केन्द्र पर पहुंची तो यहां कार्यकर्ता कुंतीदेवी जीनगर अकेली बरामदे में बैठी धूप सेंक रही थी और भवन के कक्ष में एक भी बालक उपस्थित नहीं होने व सहायिका व आशा भी नजर नहीं आने पर उनसे पूछताछ करने पर बताया कि सहायका प्रकाश देवी आज नहीं आई है। उसने यह भी स्वीकारा की बच्चे सर्दी के मौसम की वजह से नहीं आ रहे है आज 5 बच्चे ही उपस्थित है जो केन्द्र के आसपास खेल रहे थे। उनको नामांकित होना बताया। इसी तरह कस्बे के नयाखेड़ा में किसान सेवा केन्द्र के पास चल रहा आंगनवाड़ी भी ११ बजे तक बंद था।
बागोड़ा में आंगनवाड़ी केन्द्रों को बिना अनुमति बंद रखकर अनुपस्थित रहना लापरवाही है। जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।
- घेवरसिंह राठौड़, महिला एवं बाल विकास अधिकारी भीनमाल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned