शराब की दुकानों में टूट रहे कायदे, दस जगह कार्रवाई

www.patrika.com/rajasthan.news

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 04 Sep 2019, 01:24 PM IST

भारी पड़ा रात को शराब बेचना और ज्यादा दाम लेना , आबकारी नियमों को धत्ता बता रहे ठेकेदारों पर कार्रवाई


जालोर. शराब की लाइसेंसी दुकानों में ठेकेदार आबकारी अधिनियमों को ताक पर रख रहे हैं। वैसे आबकारी महकमे ने इनके खिलाफ कार्रवाई भी शुरू कर दी है। दुकानों में नियम तोड़ रहे ठेकेदारों की नकेल कसी जा रही है। (Liquor Shop Allotment Rule)
जालोर आबकारी सर्किल में हाल ही में इस तरह की कार्रवाई की गई है। सर्किल क्षेत्र में आबकारी निरीक्षक ईश्वरसिंह चौहान ने आबकारी अधिनियम की अवहेलना को गंभीरता से लेते हुए ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की। देर रात को दुकानों में शराब बेचने और ज्यादा दाम वसूलने के मामले में प्रकरण दर्ज किए गए। अकेले जालोर सर्किल में ही गत चार माह में इस तरह के दस मामले सामने आए हैं। अधिकारी बताते हैं कि कुछ जगह दुकान खोलने का समय ओवर हो जाने के बाद भी ठेकेदार शराब बेचते मिले। शर्तों के उल्लंघन के मामले भी सामने आए। इन ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए प्रकरण दर्ज किए गए। ( illegal liquor liquor contractors)


दुकानों में तोड़ रहे नियम
लाइसेंसी दुकानों में नियमों को धत्ता बता रहे ठेकेदारों खिलाफ कार्रवाई करते हुए कुल दस प्रकरण दर्ज किए गए। इसमें से ओवरटाइम के दो प्रकरण शामिल है। अन्य आठ प्रकरणों में स्टॉक रजिस्टर नहीं मिलना, ज्यादा दाम लेने समेत शर्तों के उल्लंघन के आरोप हैं। (excise department rajasthan)


स्कूटर पर शराब ले जाते गिरफ्तार
अवैध रूप से शराब परिवहन कर रहे लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई। इसके तहत कुल आठ प्रकरण दर्ज किए गए। कार्रवाई में स्कूटर पर शराब ले जाने का मामला भी पकड़ में आया, जिस पर स्कूटर जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। इन मामलों में कुल 545 पव्वे देसी शराब बरामद की गई।


कार्रवाई कर रहे हंै...
आबकारी अधिनियमों की अवहेलना बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जांच के दौरान इस तरह के ठेकेदारों पर सख्त कार्रवाई कर रहे हैं। अवैध रूप से शराब बेचने वालों की भी धरपकड़ की जा रही है।
- ईश्वरसिंह चौहान, आबकारी निरीक्षक, जालोर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned