श्रमिक संगठनों के नाम से कर रहे थे फर्जीवाड़ा, जांच में आया सामने

Dharmendra Ramawat

Updated: 07 Feb 2019, 12:06:22 PM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

रानीवाड़ा. रानीवाड़ा क्षेत्र में विभिन्न श्रमिक संगठनों के नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार करने का मामला सामने आया है। शिकायत पर विकास अधिकारी भंवरसिंह चारण और श्रमिक निरीक्षक डूंगराराम ने बुधवार को संयुक्त कार्रवाई करते हुए कस्बे के बडग़ांव रोड स्थित कॉम्पलेक्स में कार्रवाई की।
कार्रवाई के दौरान दुकान में हजारों की संख्या में श्रम विभाग के श्रमिक आवेदन पत्र, बड़ी संख्या में लोगों की आईडी, श्रम संगठनों की फर्जी मोहरों को विभाग के अधिकारी ने उक्त आईडी एवं मोहरों को जब्त किया गया। इस दुकान में मरूधर राजस्थान कमठा मजदूर संघ के अध्यक्ष के नाम की अलग अलग मोहर भी बरामद हुई।छापेमार कार्रवाई के दौरान लोगों ने बताया की इशान्त चौहान के नाम का व्यक्ति पिछले एक वर्ष से अधिक समय से श्रमिक सेवा केन्द्र का फर्जी कार्यालय खोलकर श्रम विभाग की समस्त योजनाओं जिसमे श्रमिक कार्ड, शुभशक्ति सहित कई योजनाओं का लाभ लोगों को दिलाने का कार्य कर रहा था। श्रम निरीक्षक डूंगराराम ने बताया कि लखित शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। साथ ही कई दस्तावेज, आईडी, फर्जी मोहर, पेन डाई व जब्तकी गई।
छापेमारी के दौरान मौके पर कमलेश कुमार जीनगर लोगों आईडी लेकर श्रमिक कार्ड बनाता हुआ पाया गया।कमलेश ने बताया कि उसे हर माह पांच हजार रुपए का मेहनताना इशांत उर्फ इकबाल निवासी बालोतरा द्वारा मिलता है। कमलेश की निशालदेही पर बाईपास रोड पर एक मकान पर भी अधिकारी पहुंचे तो इशांत उर्फ इकबाल अपने कुछ साथियों के साथ घर पर ताला लगाकर मौके से फरार हो गया था।
इनका कहना
लिखित शिकायत मिली थी, जिस पर कार्रवाई की गई है। बाड़मेर जिले की सील का दुरुपयोग, निर्धारित राशि से अधिक राशि वसूली जा रही थी।थाने में प्रकरण दर्ज करवाया गया है
- डूंगरराम, श्रम निरीक्षक, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned