देरी से बदबू मारने लगा था शव, ३० घंटे बाद मेडिकल बोर्ड ने किया पीएम

Khushal Singh Bhati

Updated: 05 Jun 2019, 11:49:23 AM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

जालोर/ बागोड़ा. बागोड़ा थाना क्षेत्र के डूंगरवा के राजकीय स्कूल परिसर में पेड़ पर सोमवार को झूलते मिले युवक के शव के बाद परिजनों द्वारा विरोध के बाद पोस्टमार्टम नहीं हो पाया था। मामला काफी उलझा और सोमवार को करीब 10 घंटे बाद परिजनों से समझाइश के बाद शव को शाम को पोस्टमार्टम के बाद राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया और करीब 30 घंटे के बाद मंगलवार दोपहर में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया गया। मामले में परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए प्रकरण दर्ज करवाया था। मामले के अनुसार डूंगरवा गांव के सरकारी स्कूल परिसर में सोमवार सवेरे पेड़ पर गोविंद उर्फ गोबराराम मेघवाल का शव झूलता मिलने के बाद मामले में परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। जिसके बाद मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया और उसके बाद शव परिजनेां को सुपुर्द किया गया।
परिजनों के पहुंचने से पहले ही नीचे उतार दिया था शव
लुणवा जागीर निवासी गोविंद उर्फ गोबराराम पुत्र छोगाराम मेघवाल का शव डूंगरवा गांव के सरकारी स्कूल मे एक पेड़ पर झूलता मिलने के बाद परिजनों के पहुंचने से पहले शव को पेड़ से नीचे उतारने से पुलिस पर परिजनो ने नाराजगी जताई थी और सोमवार को शव उठाने से इनकार कर दिया था। सोमवार शाम को समझाइश के बाद शव को आदर्श राजकीय चिकित्सालय बागोड़ा में रखवाया गया। मंगलवार को मेडिकल टीम डॉ. अरविंद विश्नोई कोरी ध्वैसा, डॉ. दिनेशकुमार सेवड़ी व डॉ. महेश बालेशा धुम्बडिया ने पीएम किया।
मौके पर जुटती रही भीड़
सवेरे 9 बजे से ही सरकारी अस्पताल परिसर में पीडित परिजनों के अलावा आस पास गांवों से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। दोपहर ढाई बजे के लगभग शव सुपुर्द के बाद परिजन और समाजबंधु शव को दाह संस्कार के लिए लेकर रवाना हुए। इस दौरान पुलिस उप अधीक्षक हुकमाराम विश्नोई, उप निरीक्षक भारत रावत, एएसआई बगडूराम विश्नोई व लुणवा जागीर निवासी पूर्व सरपंच तेजसिंह राजपूत, दानाराम चौधरी समत कई जने मौजूद थे।
ठेकेदार पर लगाया हत्या का आरोप
घटनाक्रम के बाद सोमवार को परिजनों की ओर से पेश की गई रिपोर्ट में डूंगरवा निवासी चतराराम पुत्र करमीराम मेघवाल के खिलाफ मृतक के पिता छोगाराम ने रिपोर्ट पेश की। जिसमें बताया गया कि गोविंद करीब 4 वर्ष से मजदूरी (कारीगरी) का काम करता था और उसी के पास रहता भी था। वह कभी कभी अपने गांव लुणवा जागीर आता जाता था। आरोप है कि दो दिन पूर्व ठेकेदार चतराराम द्वारा मजदूरी के रुपए नहीं देने तथा ठेकेदार की ***** से प्रेम प्रसंग होने की बात बताई। साथ ही विवाह में अड़चन पैदा करने की बात भी कही। रिपोर्ट में गोविंद के उसकी पुत्री से प्रेम प्रसंग की नाराजगी को हत्या का कारण बताया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इससे नाराज होकर चतराराम व उसके बहनोई वागाराम ने मिलकर हत्या कर दी और उसे आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया जा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned